मुख्य पृष्ठ » ट्रेवल सेक्स स्टोरीज » सेक्सी बहन के साथ गोवा में मजा – 2


सेक्सी बहन के साथ गोवा में मजा – 2

Posted on:- 2022-07-28


“सेक्सी बहन के साथ गोवा में मजा – 1” से आगे की कहानी …

 कैसे है आप सब आशा है अच्छे होंगे और चुदाई के जुगाड़ में होंगे फिर मेरी बहन ने देखा कि मेरा थोड़ा मन खराब है तो उसने मेरे गाल पर किस किया और फिर वो मेरे कंधे पर सर रखकर बैठ गयी और फिर में भी उसके बालों में हाथ फैरने लगा. मेरी बहन थोड़ा मेरे पास आई और कहा कि क्या तुम सच में अपनी गर्लफ्रेंड को मिस कर रहे हो? तो मैंने कहा कि हाँ तो उसने अपना थोड़ा सर उठाया और मेरे चहरे के पास अपना चेहरा लाई और मेरे होंठों के पास आई तो मैंने देखा कि उसकी आंखे बंद हो चुकी थी. फिर मैंने भी अपनी आंखे बंद कर ली और फिर उसने मुझे हल्का सा किस किया. फिर उसने मेरा हाथ पकड़ा और अपने सीधे चूचिया  पर रख दिया. उसका चूचिया  बहुत ही मुलायम था. फिर वो हटी और कहा कि सॉरी.. तो मैंने कहा कि कोई बात नहीं.. ठीक है. फिर हम सब वापस आए और अपने अपने रूम में चले गये. जब हम सुबह उठे तो मेरी बहन ने मुझे रात के लिए सॉरी कहा.. तो मैंने कहा कि कोई बात नहीं.. ऐसा कभी कभी हो जाता है. फिर हम तैयार हुए और घूमने निकल पड़े.. हमने सारा दिन घूमने में निकाल दिया और रात को वापस आए खाना खाया और सो गये. सुबह मेरे फ्रेंड और में बीच पर घूमने के लिए गये तो मेरे एक फ्रेंड ने कहा कि कल क्रिसमस है तो हम लोग बीच पर पार्टी करते है. तो मैंने कहा कि हाँ बहुत अच्छा आइडिया है और फिर हम सब प्लान करके वापस आ गए. फिर में रूम में आकर लेट गया.. मेरी बहन दूसरी लड़कियों के साथ उनके रूम में थी. तो में रात के बारे में सोचने लगा.. में अपनी बहन के होंठ और उसके चूचिया  के अहसास भूल नहीं पा रहा था और मैंने देखा कि मेरा लंड बहुत टाईट हो गया है. में फिर बाथरूम मुठ मारने में गया.. मैंने वहाँ पर देखा कि मेरी बहन की ब्रा और पेंटी बाथरूम में पड़ी है.. तो पहले मैंने अपनी बहन की ब्रा उठाई और उसे सूंघने लगा.. वाहह उसकी ब्रा की क्या खुश्बू थी? में फिर उसकी ब्रा को चूमने लगा.. यह सोचकर कि यह उसके चूचिया  है.. फिर मैंने अपनी बहन की पेंटी उठाई और उसे सूंघने लगा वाह उसकी क्या खुश्बू थी.. मुझे उसकी चूत का मज़ा आने लगा और फिर में उसकी पेंटी सूंघते हुए मुठ मारने लगा और थोड़ी देर बाद में झड़ गया. फिर में बाथरूम से बाहर आया और बेड पर लेट गया. अब में अपनी बहन को चोदने के बारे में सोचने लगा. फिर मैंने सोचा कि 25 दिसम्बर को पार्टी के बाद में उसे चोदने की कोशिश करूँगा और मैंने सोचा कि अगर उसने रात को थोड़ी ज़्यादा पी तो हमने किस किया और अगर में कल रात उसे थोड़ी और ज़्यादा पिला दूँ तो शायद मेरा काम बन जाए. फिर में तैयार हुआ और हम सब घूमने निकल पड़े और रात को खाना खाते हुए हमने अपनी पार्टी वाला प्लान लड़कियों को बताया तो वो सभी मान गयी. फिर खाना खाने के बाद हम सब वापस आ गए और अपने रूम में चले गये. मै एक नंबर का आवारा चोदा पेली करने वाला  लड़का हु मुझे लड़किया चोदना अच्छा लगता है ये कहानी पढ़ कर आपका लंड खड़ा नहीं हुआ तो बताना  लड खड़ा ही हो जायेगा .

 मेरे मित्रगणों  चुत छोड़ने के बाद सुस्ती सी आ जाती है     में जब बेड पर लेटा तो सोचने लगा कि कल रात तो में इसी बेड पर अपनी बहन को चोद दूंगा.. यह सोचकर मेरा लंड खड़ा हो गया.. लेकिन मैंने अपने अहसास को कंट्रोल किया और में कल रात होने का इंतज़ार करने लगा और फिर थोड़ी देर बाद में सो गया 25 दिसम्बर की सुबह हम सब तैयार हुए और रात की पार्टी के लिए ज़रूरी समान लाने लगे.. सामान लाते हुए हमे शाम हो गयी और फिर हम सब अपने रूम में चले गये. फिर थोड़ी देर बाद हम सब तैयार हुए. मेरी बहन ने काली मिनी स्कर्ट और काला टॉप पहना हुआ था.. में उसे उस ड्रेस में देखता ही रह गया और में सोच रहा था कि इसे यही पकड़कर चोद दूँ. फिर हम पार्टी के लिए निकले.. पार्टी में हम सब डांस कर रहे थे में और मेरी बहन भी डांस कर रही थी. फिर प्लान के मुताबिक मैंने अपनी बहन को ड्रिंक लाकर दी.. मेरी बहन ने ड्रिंक पी ली और फिर हम डांस करने लगे.. मैंने देखा कि 2-3 शॉट्स के बाद मेरी बहन मुझसे चिपककर डांस कर रही है और में भी इस बात का फायदा उठाने लगा और उसकी कमर पर हाथ घुमाने लगा. फिर मेरी बहन के चूचिया  का दबाव मेरे चेस्ट पर पड़ा में तो पागल हो गया था और फिर हमे डांस करते हुए रात के 1 बज गए थे.. फिर हमने 2 बजे तक खाना खाया और फिर हम सब रूम की तरफ जाने लगे.. मेरी बहन नशे में धुत होकर मेरा सहारा लेकर चल रही थी. क्या बताऊ मेरे मित्रगणों   उसको देखकर किसी लैंड टाइट हो जाये.


 मेरे मित्रगणों  मने बहुत सी भाभियाँ चोद राखी है फिर हम रूम में पहुंचे तो मेरी बहन एकदम से बेड पर लेट गयी.. मैंने उसे बेड पर लेटे हुए देखा तो मेरा मन किया कि में उसके ऊपर चढ़ जाऊँ.. फिर में अपनी बहन के पास में लेट गया और मैंने उसका हाथ पकड़ लिया.. तो मेरी बहन भी थोड़ा मेरे पास हो गयी. फिर में घूमा और अपनी बहन की जांघ पर अपना हाथ रखा.. लेकिन मेरी बहन ने कुछ नहीं कहा. फिर में अपना हाथ उसकी जांघ पर घुमाते हुए उसकी कमर पर ले गया और फिर मैंने उसका चेहरा अपनी तरफ किया और हम दोनों एक दूसरे की आखों में देख रहे थे. फिर मैंने उसे कहा कि सुकन्या  क्या बात है आज तुम बहुत हॉट, सेक्सी लग रही हो? तो उसने मुझे स्माईल दी.. फिर मैंने उसे कहा कि सुकन्या  में अपनी गर्लफ्रेंड को बहुत याद कर रहा हूँ तो उसने कहा कि सच में और यह कहकर वो भी मेरी तरफ को घूम गयी. फिर में उसकी गांड पर हाथ रखकर सहलाने लगा तो उसने कुछ नहीं कहा. फिर मैंने कहा कि सुकन्या  हम दोनों इतने दिनों से गर्लफ्रेंड और बॉयफ्रेंड का नाटक कर रहे है.. क्या आज रात तुम मेरी रियल में गर्लफ्रेंड बनोगी? मेरे मित्रगणों  क्या मलाई वाला माल लग रहा था    यह सुनकर वो बैठ गयी और उसने कहा कि में तुम्हारी बहन हूँ और यह मुमकिन नहीं है. फिर मैंने कहा कि सुकन्या  हम घर से बहुत दूर है और हमे यहाँ पर कोई नहीं जानता तो क्यों ना इस ट्रिप को हम मज़ेदार बनाए.. हमे ऐसा मौका बार बार नहीं मिलेगा. फिर उसने कहा कि नहीं यह बिल्कुल ग़लत है. फिर मैंने उसे पकड़ा और बेड पर लेटाया और कहा कि सुकन्या  कुछ ग़लत नहीं है ओर किसी को पता नहीं चलेगा.. इतना कहकर में उसके ऊपर लेट गया और मैंने उसकी गर्दन पर किस करना शुरु कर दिया.. थोड़ी देर तक तो उसने कुछ नहीं कहा फिर वो खड़ी हुई और कहने लगी कि प्लीज़ ऐसा मत करो.. इससे हमारा रिश्ता खराब होगा. तो मैंने कहा कि यह मत सोचो कि हम भाई-बहन है बल्कि यह सोचो कि तुम एक लड़की हो और में एक लड़का हूँ और हम घर से बहुत दूर रात को एक कमरे में है. तो वो बेड पर चुप बैठ गयी.. फिर मैंने उसे पकड़ा और उसके गाल पर किस करने लगा. उसके बालों की खुश्बू मुझे पागल बना रही थी. चुदाई की कहानी जरूर सुनना चाहिए मजे के लिए.


 साथियो की पुराणी मॉल छोड़ने का मजा ही कुछ और है फिर उसने मुझे कहा कि प्लीज भाई एक बार फिर सोचो.. तो मैंने कहा कि मैंने सोच लिया है इसमें कोई प्रोब्लम नहीं है. फिर वो कुछ और बोलने लगी इतने में मैंने उसे पकड़ा और उसे होंठ पर किस करने लगा और उसे बेड पर लेटा दिया.. वो कुछ विरोध नहीं कर रही थी. फिर मैंने अपने हाथ से उसके चूचिया  दबाने शुरू करे एक मिनट बाद वो भी मेरा साथ देने लगी और हमने 10 मिनट तक किस किया.. में बता नहीं सकता वो कितना मजेदार किस था और हम दोनों ऐसे ही किस कर रहे थे जैसे कि हम भाई-बहन नहीं कोई लवर्स हो. कभी वो अपनी जीभ मेरे मुहं में डालती और कभी में अपनी जीभ उसके मुहं में डालता.. उसके होंठ बहुत ही मुलायम और सुंदर थे. में उसके चूचिया  की गहराइयों को चूस रहा था जो कि बहुत सेक्सी है. फिर मैंने अपनी बहन का टॉप उतारा तो मेरी बहन कह रही थी भाई यह सब ठीक तो है ना. तो मैंने उसे होंठ पर किस किया और कहा कि हाँ बेबी सब ठीक है. अब सुनिए चुदाई की असली कहानी.


मेरे मित्रगणों  एक बार चोदते  चोदते  मेरा लंड घिस गया मैंने जैसे ही उसका टॉप उतारा उसने गुलाबी कलर की ब्रा पहनी हुई थी.. फिर में उसे किस करने लगा और किस करते हुए मैंने उसकी ब्रा पीछे से खोल दी और उसे बेड पर लेटा दिया. अब में अपनी बहन के चूचिया  चूसने लगा और जब में अपनी बहन के चूचिया  चूस रहा था तो वो जोर जोर से सांसे लेने लगी और मेरे बालों में अपने हाथ घुमाने लगी. मेरी बहन की सिसकियों की आवाज़े निकल रही थी अहह ओहो बेबी चूसो इन्हें और जोर से अहहहाहा ऑश जोर से बेबी. फिर में खड़ा हुआ और मैंने अपनी बहन की स्कर्ट और  वहा का माहौल बहुत अच्छा था  मेरे मित्रगणों   पेंटी उतारी उसकी साफ शेव चूत देखकर में पागल हो गया और में उस पर हाथ घुमाने लगा तो मेरी बहन और तेज़ आवाज़े निकालने लगी. फिर में नीचे झुका और अपनी जीभ से उसकी चूत चाटने लगा और जैसे ही मैंने चूत चाटना शुरू किया तो मेरी बहन पागल हो गयी और मेरी बहन मेरा सर पकड़कर अपनी चूत में घुसाने लगी 15 मिनट तक मैंने उसकी चूत चाटी और जब वो झड़ गई तो उसने बेड शीट को कसकर पकड़ लिया. फिर मैंने पूछा कि क्या हुआ? तो वो कुछ नहीं बोली और मैंने अपनी जीन्स और अंडरवियर उतारी और फिर में बेड पर लेट गया और मैंने अपनी बहन से कहा कि मेरा लंड चूसो. तो मेरी बहन ने कहा कि मैंने यह सब पहले कभी नहीं किया.. तो मैंने अपनी बहन को कहा कि कोई बात नहीं तुम बस इसे मुहं में लो.. फिर मेरी बहन ने मेरा लंड अपने मुहं में लिया और चूसने लगी वाह वो क्या अहसास था में बहुत अच्छा महसूस कर रहा था और वो बहुत अच्छी तरह से मेरा लंड चूस रही थी. मेरे मित्रगणों  उस लड़की मैंने चुत का खून निकल दिया.


वहा जबरजस्त माल भी थी मेरे मित्रगणों   गर्लफ्रेंड ने भी मेरा लंड नहीं चूसा था.. लेकिन मेरी बहन मेरा लंड चूस रही थी और वो भी बहुत अच्छी तरह से. फिर में अपनी बहन के बाल पकड़कर ज़ोर ज़ोर से अपना लंड चुसवाने लगा.. दस मिनट तक मेरी बहन ने मेरा लंड चूसा. फिर मैंने अपनी बहन को बेड पर लेटाया और फिर मैंने उससे कहा कि मेरी जान क्या तुम हॉट चुदाई  के लिए तैयार हो? तो उसने कहा कि हाँ में तैयार हूँ. फिर मैंने बेड के साईड से एक कंडोम का पेकेट निकाला और उसमे से कंडोम निकाला. फिर मैंने अपनी बहन को कहा कि मेरे लंड पर कंडोम चढ़ाओ.. तो उसने वैसा ही किया. फिर में अपनी बहन के पैरों के बीच में आ गया और अपना लंड उसकी चूत के होल पर रखा और फिर हल्का सा झटका मारा तो मेरी बहन की हल्की सी चीख निकली आउच अहहहा.. मैंने फिर एक और झटका मारा तो मेरी बहन अहाहाहहहाहा करने लगी. फिर मेरी बहन ने कहा कि अंदर कितना गया? तो मैंने कहा कि अभी तो आधा ही अंदर गया है. तो उसने कहा कि मुझे बहुत दर्द हो रहा है.. तुम अंदर पूरा मत डालना. मेरे मित्रगणों  चोदते चोदते चुत का भोसड़ा बन गया ऐसे माहौल कौन नहीं रहना चाहेगा मेरे मित्रगणों.  

 मेरे मित्रगणों  एक बार मैंने अपने गांव के लड़की जबरजस्ती चोद दिया फिर मैंने कहा कि जान में पूरा डालूँगा तभी तो तुझे मज़ा आएगा. तो उसने कहा कि और मुझे दर्द होगा तो? मैंने कहा कि बस शुरू में थोड़ा दर्द होगा.. फिर में उसे होंठ पर किस करने लगा और फिर दो मिनट बाद मैंने ज़ोर से एक झटका मारा.. तो मेरी बहन मेरे होंठ पर किस करने लगी और मेरी पीठ पर अपने नाख़ून गड़ाने लगी. फिर दो मिनट तक में उसके ऊपर ऐसे ही लेटा रहा और फिर मैंने उह क्या मॉल था मेरे मित्रगणों  गजब 
 मेरा तो मन ही ख़राब हो जाता था मेरे मित्रगणों   हल्के हल्के झटके मारना शुरू किया. मेरे हर एक झटके के साथ उसकी चीख निकल रही थी.. अहहा अहाहा अहहहः 5 मिनट तक में उसे ऐसे ही चोदता रहा. अब उसका दर्द थोड़ा कम हुआ तो वो बहुत सेक्सी आवाज़े निकालने लगी.. अहहाहा उह्ह्ह हाँ ऐसे ही बेबी और जोर से.. अओह्ह्ह बेबी चोदो मुझे और जोर से अहहहहा. तो यह सब सुनकर मेरा जोश और बढ़ गया और में उसे ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा.. वो भी अपनी गांड उठा उठाकर मुझसे चुदवा रही थी 10 मिनट तक में उसे ऐसे ही चोदता रहा. फिर में बेड पर लेट गया और वो मेरे लंड पर बैठ गयी और उछलने लगी. क्या बताऊ मेरे मित्रगणों  मैंने चुदाई हर लिमिट पार कर दिया.


 कुछ भी  हो माल एक जबरजस्त था  में उसे देख रहा था.. वो बहुत ही सेक्सी लग रही थी.. उसके बाल उसके चहरे पर आए हुए थे और उसके चूचिया  जोर जोर से उछल रहे थे और 5 मिनट तक मैंने उसे इसी पोज़ में चोदा. फिर मैंने उसे डॉगी स्टाईल में चोदा उसकी गांड मेरी जांघ से टकरा रही थी.. 5 मिनट तक मैंने उसे डॉगी स्टाईल में चोदा और फिर मैंने उसे दोबारा बेड पर लेटा दिया और उसके ऊपर चढ़ गया और एक बार फिर में उसे ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा. तो उसने मुझे नीचे खींचा और वो मेरी गर्दन और कंधों पर किस करने लगी और अपने नाख़ून मेरी पीठ पर मारने लगी.. जब उसने मेरी गर्दन और कंधों पर किस किया तो मैंने अपनी स्पीड और बढ़ा दी और अब उसकी चूत में मेरा लंड पूरा अंदर बाहर हो रहा था और छप छप की आवाज़ भी आ रही थी.. जो कि मुझे बहुत अच्छी लग रही थी. मैंने जब भी अपनी गर्लफ्रेंड को चोदा है तो इतनी अच्छी आवाज़ कभी नहीं आई. मेरी बहन की गांड और जांघ बहुत सेक्सी है और बहुत अच्छे आकार में. तभी इतनी मस्त छप छप की आवाज़े आ रही थी और फिर मेरा लंड झड़ने वाला था तो में ज़ोर ज़ोर से झटके मारने लगा और एक मिनट के बाद झड़ गया. जैसे ही में झड़ा तो मेरे मुहं से एक आवाज़ निकली अहहहः और में अपनी बहन के ऊपर लेट गया. फिर मैंने देखा कि हम दोनों को बहुत पसीना आया हुआ है और जब भी मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को चोदा तो मुझे इतना पसीना कभी नहीं आया.. हो सकता है कि मेरी बहन की चूत टाईट और बहुत गरम थी शायद इसलिए इतना पसीना निकल गया. फिर हम दोनों सो गये और फिर हम सुबह उठे तो मेरी बहन मेरे ऊपर आकर लेट गयी और कहा कि बेबी तुम बहुत गरम हो.. तुमने कल रात मुझे बहुत मजे दिए. फिर मैंने भी कहा कि जान तुम भी बहुत गरम गरम और एकदम चुदाई  बॉम्ब हो.. मेरी गर्लफ्रेंड को चोदने में कभी इतना मज़ा नहीं आया जितना कल रात तुम्हे चोदने में आया है. तो मेरी बहन ने कहा कि तो क्या अब हम गर्लफ्रेंड-बॉयफ्रेंड की तरह रह सकते है? तो मैंने कहा कि हाँ मेरी जान.. तो उसने मुझे स्माईल दी और कहा कि तू बहुत अच्छा है बहनचोद और मुझे किस करने लगी. फिर जब तक हमारा ट्रिप ख़त्म हुआ मैंने अपनी बहन को रोज़ 2 या 3 बार चोदा.. लेकिन नये साल की रात को मैंने उसे 6 बार चोदा और वो भी बिना कंडोम के और मैंने अपना सारा वीर्य भी उसकी चूत में ही डाल दिया. उसको देखकर  किसी का मन बिगड़ जाये .
 मेरे मित्रगणों  मैंने किसी भाभी को छोड़ा नहीं है दोस्तों अगर तुम्हे सबसे टाईट और गरम चूत मिल सकती है तो वो तुम्हारी बहन की ही होगी उसके जैसी हॉट और टाईट चूत तुम्हे कहीं भी नहीं मिल सकती. जो मज़ा तुम्हे तुम्हारी बहन को चोदने में आएगा वो मज़ा तुम्हे कोई लड़की नहीं दे सकती .. मेरे मित्रगणों  मुझे तो कभी कभी चुत के दर्शन मात्र से खूब मजा आता क्योकि मई पहले बहुत बार अपने मौसी के लड़की  को बिना पैंटी के देखा था  वाह क्या मजा आया था.

What did you think of this story??






अन्तर्वासना इमेल क्लब के सदस्य बनें


हर सप्ताह अपने मेल बॉक्स में मुफ्त में कहानी प्राप्त करें! निम्न बॉक्स में अपना इमेल आईडी लिखें, फिर ‘सदस्य बनें’ बटन पर क्लिक करें !


* आपके द्वारा दी गयी जानकारी गोपनीय रहेगी, किसी से कभी साझा नहीं की जायेगी।