मुख्य पृष्ठ » ट्रेवल सेक्स स्टोरीज » चार लड़कों ने मिलकर खूब चोदा


चार लड़कों ने मिलकर खूब चोदा

Posted on:- 2022-09-28


नमस्कार मेरे मित्रगणों  और सुनाइए कैसे आप सब , मेरा नाम शिला पीरामल  है और में मुर्दाबाद  की रहने वाली हूँ. मेरी उम्र 26 साल है और मेरा फिगर 35-28-33 है में अब तक कुंवारी हूँ और मेरा एक बॉयफ्रेंड है जिसका नाम सतीश जोजनवाला  है जो कि मेरा स्टूडेंट भी है और अब आप सभी मेरे साथ घटी एक सच्ची घटना सुनिए जिसके लिए में आज चुदाई डॉट कॉम पर आई हूँ. वैसे में अब तक कहानियों को पढ़ती आ रही हूँ और ऐसा करने में मुझे बहुत मज़ा आता है. मोटी गांड वाली लड़कियों की बात ही कुछ और है.


 लड़किया क्युआ गजब चुदकड़ होती है दोस्तों एक दिन हम दोनों मोटरसाइकिल पर किसी रिज़ॉर्ट पर घूमने गये थे जो कि सिटी से बहुत अलग हटकर शांत जगह पर बना हुआ था. रात को हम दोनों वापस आने में थोड़ा सा लेट हो गये इसलिए तब तक अँधेरा बहुत हो चुका था और वो सर्दी का सीज़न था इसलिए वो रोड़ बहुत ही सुनसान था. तो सतीश जोजनवाला  और में उस मोटरसाइकिल पर धीरे धीरे बातें करते हुए आ रहे थे कि दूर एक लड़का दिखा जो कि हमे हाथ दे रहा था वो एक फार्महाउस के सामने खड़ा हुआ था. मेरे मित्रगणों  क्या मॉल थी उसकी चुची पीकर मजा आ गया.


 मै एक नंबर का आवारा चोदा पेली करने वाला  लड़का हु मुझे लड़किया चोदना अच्छा लगता है सतीश जोजनवाला  ने मेरे मना करने के बावजूद भी मोटरसाइकिल को रोक दिया. अब एकदम से दो और लोग हमारे सामने आकर खड़े हो गए और उन्होंने चाकू निकाल लिया और सतीश जोजनवाला  के पेट पर लगाकर वो बोले कि चलो पैसा निकालो. फिर सतीश जोजनवाला  ने तुरंत अपना पर्स निकालकर उनको दे दिया, लेकिन उसके पर्स में सिर्फ़ 50 रूपये ही थे, वो तीन लड़के थे उनकी उम्र 28-30 के बीच होगी और वो सब थोड़े पिए हुए थे. क्या बताऊ मेरे मित्रगणों   उसको देखकर किसी लैंड टाइट हो जाये.


 मेरे मित्रगणों  मने बहुत सी भाभियाँ चोद राखी है फिर एक पर्स खोलने के बाद बोला अरे इसमे तो सिर्फ़ 100 रुपए है, दोस्तों इससे क्या होगा वैसे वो लोग दिखने में लूटेरे भी नहीं लग रहे थे, क्योंकि उन तीनों ने अच्छे कपड़े पहने हुए थे फिर दूसरा लड़का बोला अरे जेब में पैसा है तो बाहर निकाल दो नहीं तो में इस चाकू को तुम्हारे पेट में डाल दूँगा. अब सतीश जोजनवाला  ने कहा कि बस इतना ही है. मेरे पास और कुछ नहीं है चाहे तो तुम लोग मेरी तलाशी ले सकते हो, लेकिन इस चाकू को तुम दूर रखो. चुदाई की कहानी जरूर सुनना चाहिए मजे के लिए.


 साथियो की पुराणी मॉल छोड़ने का मजा ही कुछ और है फिर अगला लड़का बोला दोस्तों इतने में तो एक बोतल भी नहीं आएगी, अब क्या करे, एक काम करो इसकी बीबी की सोने की चैन ले लो. तभी सतीश जोजनवाला  ने कहा कि यह मेरी बीबी नहीं है यह मेरी गर्लफ्रेंड है, तो दूसरा लड़का बोला अच्छा तो यह तेरी गर्लफ्रेंड फिर तो तुम बड़े ऐश करके आ रहे हो, चलो हमे इससे क्या मतलब? लेकिन इस समय रात को चैन बेचकर पैसे हमें कहाँ मिलेंगे और इतनी ही देर में एक ने मेरी चैन की तरफ अपना हाथ बढ़ा दिया जो कि मेरे निप्पल पर लटक रही थी. अब सुनिए चुदाई की असली कहानी.


 मेरे मित्रगणों  एक बार चोदते  चोदते  मेरा लंड घिस गया वो चैन को पकड़ने ही वाला था कि उसकी नज़र मेरे निप्पल पर गयी और फिर वो बोला कि रहने दो वैसे भी हमने अब बहुत पी ली है ज़्यादा मत पियो और उसने इशारा करके अपने साथियों को मेरे निप्पल दिखाए और वो बोला कि अरे यह तो बड़ा मस्त माल है चलो दारू नहीं तो यही सही. दोस्तों उस समय में खड़ी हुई थी और सतीश जोजनवाला  मोटरसाइकिल पर बैठा हुआ था एक ने मुझे पीछे से पकड़ लिया और उसने मेरे मुहं को हाथ से पकड़ लिया. फिर उसके बाद मेरे गले पर चाकू रख दिया और वो बोला कि चलो तुम अंदर चलो वहाँ हम तुम्हारी तलाशी लेंगे. वहा का माहौल बहुत अच्छा था  मेरे मित्रगणों . 


 मेरे मित्रगणों  उस लड़की मैंने चुत का खून निकल दिया अब उन लोगो के साथ हम दोनों चुपचाप उनके साथ अंदर आ गये, तो में तुरंत समझ गयी थी कि इनका क्या प्लान है क्योंकि में उस समय काले रंग की साड़ी में बहुत ही आकर्षक लग रही थी और मेरा ब्लाउज भी काले रंग का था और उसके अंदर भी मैंने काले रंग की ब्रा पहनी थी. वहा जबरजस्त माल भी थी मेरे मित्रगणों  .


 मेरे मित्रगणों  चोदते चोदते चुत का भोसड़ा बन गया दोस्तों सतीश जोजनवाला  ने तो हॉस्टल से बाहर निकलते वक़्त ही कहा था कि आज तुम इस साड़ी में वाह क्या मस्त कयामत लग रही हो? लेकिन उसे यह नहीं पता था कि आज हमारे साथ आज क्या होने वाला है? थोड़ी देर में हम कमरे के अंदर आ गये तो उन्होंने सतीश जोजनवाला  को कुर्सी पर बैठने को कहा. ऐसे माहौल कौन नहीं रहना चाहेगा मेरे मित्रगणों  .


 मेरे मित्रगणों  एक बार मैंने अपने गांव के लड़की जबरजस्ती चोद दिया डरने की वजह से वो बैठ गया. फिर उन तीनो ने जबरदस्ती उसको रस्सी से उस कुर्सी पर बाँध दिया और उसका मुहं भी एक कपड़े से बाँध दिया जिससे वो आवाज़ ना कर सके और उसके बाद एक लड़का बोला कि पैसे तो तुम्हारे पास नहीं है, लेकिन तुम्हारी गर्लफ्रेंड तो बहुत मस्त है और आज हम तीनों इसकी चुदाई करेंगे, तूने तो इसको बहुत बार चोदा होगा, क्यों में सही कह रहा हूँ ना, चलो आज इसको छोड़कर थोड़ा मज़ा आज हम भी ले लें और हाँ सुबह तुम लोग आराम से यहाँ से जा सकते हो कोई प्राब्लम नहीं होगी, लेकिन उसके बाद अगर तुमने कुछ शिकायत करने की कोशिश की तो उसमे बदनामी तुम्हारी ही होगी क्योंकि हमारा तुम कुछ नहीं कर पाओगे इसलिए ज़्यादा होशियार मत बनना और चुपचाप कुर्सी पर सो जाओ और अब वो तीनों सतीश जोजनवाला  को उस रूम में बंद करके मुझे दूसरे रूम में ले आए इतने में उनके एक दोस्त का फोन आया, तो उन्होंने उसको बोला कि हम फार्महाउस पर है और हमारे पास दारू तो नहीं है अगर तुम एक बोतल लेकर आओ तो एक माल है हमारे पास आज रात के लिए तुम्हे भी मज़ा आ जाएगा बस तुम दारू लेकर जरुर आना. उह क्या मॉल था मेरे मित्रगणों  गजब .


 मेरा तो मन ही ख़राब हो जाता था मेरे मित्रगणों   दोस्तों उस रूम में एक बहुत बड़ा बेड लगा हुआ था उन्होंने मुझे देखा और बैठने के लिए कहा और कहा कि अभी तुम थोड़ी देर बैठ जाओ हमारा एक और दोस्त आने वाला है उसके बाद हम तुम्हारी चुदाई करेंगे और तुम्हे मस्त कर देंगे अभी तक तो सिर्फ़ तुम सिर्फ़ अपने बॉयफ्रेंड से ही चुदी होगी, लेकिन आज हम चार के साथ एक साथ चुदवाने में तुम्हे बड़ा मज़ा आ जाएगा और तुम्हारी जवानी तो बहुत मस्त है, ऐसा लगता है कि जैसे तुम्हारे बॉयफ्रेंड ने कुछ किया ही ना हो, लेकिन ऐसा हो तो नहीं सकता क्यों? तो मैंने अपनी तरफ से कोई जवाब नहीं दिया, तो वो बोला इसका मतलब तुमने उससे चुदाई करवाई है, फिर तुम अभी तक इतनी मस्त कैसे हो? क्या बताऊ मेरे मित्रगणों  मैंने चुदाई हर लिमिट पार कर दिया.


 कुछ भी  हो माल एक जबरजस्त था  इतनी देर में एक ने कहा कि इसको देखकर मेरा तो लंड खड़ा हो रहा है चलो एक बार चोद लेते है. तो दूसरे ने कहा कि नहीं पहले दारू पिएँगे और फिर आराम से मज़े लेते हुए इसकी चुदाई करेंगे वैसे भी उसको दारू लेकर आने दो, वही ही तो है सबसे बड़ा चुदक्कड़ और थोड़ी देर बाद उनका चौथा दोस्त भी आ गया. वो अंदर आते ही मुझे देखकर और बोला कि अरे यार इतनी मस्त रंडी हमारे शहर में है और मुझे पता ही नहीं, दोस्तों में तो इसको देखकर खुश हो गया. उसको देखकर  किसी का मन बिगड़ जाये .

 मेरे मित्रगणों  मैंने किसी भाभी को छोड़ा नहीं है यह शब्द सुनकर उन तीनों में से एक ने कहा अरे यार यह रंडी नहीं है साली रात को अपने बॉयफ्रेंड से चुदाई करवाने निकली थी तो हमें गलती से मिल गयी और फिर उन्होंने उसको सारी कहानी बताई और कहा कि इसका बॉयफ्रेंड भी दूसरे कमरे में बंद है उह भाई साहब की माल है उसकी चुत की बात ही कुछ और है.
.

 मेरे मित्रगणों  एक बार स्कूल में चुदाई कर दिया बड़ा मजा आया वो बोला कि चालो फिर आज इसको भी आज में रंडी बना दूंगा और फिर वो चारो मेरे आस-पास आकर बैठ गये. में बेड पर दीवार के साथ लगकर अपने दोनों पैरों को अपनी छाती से चिपकाकर बैठी हुई थी और इतने में दो लड़के मेरे आस-पास आकर बैठ गये और फिर तीसरा और चोथा भी मेरे पैर के पास आकर बैठ गया और वो दारू पीने लगे. मेरे मित्रगणों  चोदते  चोदते  कंडोम के चीथड़े मच गए.


 ओह्ह उसके यह का चुम्बन की तो बात अलग है अब एक लड़के ने मेरे निप्पल को पकड़ा और कसकर दबा दिया, जिसकी वजह से मेरी चीख निकल गयी आहह्ह्ह्ह तो वो बोला अरे यह साली बूब्स को दबाते ही चीखती है ऐसा लग रहा है कि हम आज इसकी सील तोड़ने वाले है जबकि यह तो पहले से ही चुद चुकी है. फिर तीसरे ने मेरे पैरों को पकड़कर सीधा कर दिया और वो बोला कि अरे जानेमन आराम से बैठो और हमारे साथ तुम भी मज़े करो, किसी भी काम के लिए मना मत करना क्योंकि उससे कुछ नहीं होगा हमे जो करना है वो हम जरुर करेंगे और हाँ आराम से करेंगे. एक बार मैंने अपने मौसी की लड़की को जबरजस्ती चोद दिया.


 है उसके गांड मेरा मतलब तरबूज क्या गजब भाई इतने में तीसरे ने चोथे से कहा कि तुम दारू पियो, हमने तो बहुत पी ली है तूने नहीं पी पहले तू पी ले इतनी देर हम इसकी चुदाई कर लें उसके बाद तुम कर लेना वैसे भी तूने तो बहुत बार किया है हम तो नये खिलाड़ी है भाई पहली बार चोदने के लिए हमें इतना अच्छा माल मिला है, अभी तक तो सिर्फ़ रंडी ही चोद रहे थे और इतना कहकर पहले दूसरे ने मेरी साड़ी को मेरी छाती के ऊपर से हटा दिया और ब्लाउज के ऊपर से वो मेरे बूब्स के निप्पल को दबाने लगे थे जिसकी वजह से मुझे बहुत दर्द हो रहा था और मुझे डर भी लग रहा था, लेकिन में चुप थी इतनी देर में तीसरे ने मेरी साड़ी के अंदर हाथ डाल दिया और वो मेरी जांघो को सहलाने लगा.पहला बोला वाह भाई इसके बड़े मस्त बूब्स है ऐसा लगता है कि इसका बॉयफ्रेंड इसे दबाता और चूसता नहीं है इसलिए अभी तक यह इतने टाइट है. मेरे मित्रो मामा की लड़की की चुदाई में बड़ा मजा आया.

 मेरे मित्रगणों  कई बार जबरजस्ती शॉट मरने में चुत से खून निकल गया फिर दूसरे ने कहा कि आज हम इसे दबाएँगे और चूसेंगे भी, में कुछ नहीं बोल रही थी बस चुपचाप बैठी हुई थी और कर भी क्या सकती थी? क्योंकि वो तीनो बहुत नशे में थे और फिर भी पी रहे थे और चोथे वाला सिर्फ़ मेरे पैर को सहला रहा था और मुझे देख रहा था और दारू भी पी रहा था. इतने में सबने बोतल को खत्म किया और उसको दूर रख दिया. उसके बाद मेरे सारे कपड़े उतार दिए जिसकी वजह से अब में उनके सामने बिल्कुल नंगी थी और वो भी चारो भूखे कुत्तों की तरह मुझे घूर रहे थे. उसका भोसड़ा का छेड़ गजब का था मेरे मित्रगणों  .


 उसकी बूब्स  देखते ही उसको पिने की इच्छा हो गयी   पहला और दूसरा मेरे निप्पल पर टूट पड़े. वो बहुत ज़ोर ज़ोर से मेरे बूब्स को दबाने लगे में दर्द की वजह से चिल्लाने लगी अह्ह्ह्हहह उह्ह्हह्ह प्लीज धीरे करो, लेकिन वो कुछ भी नहीं सुन रहे थे तीसरे वाला मेरी चूत को सहला रहा था में आहहहह उफ्फ्फ्फ़ करती रही, लेकिन उनको कुछ भी सुनाई नहीं दे रहा था. अब पहले वाला लड़का बोला वाह क्या चिकना माल है आज तो मज़ा आ गया चोथा वाला तो बस सब मेरा पूरा जिस्म देख रहा था और पी रहा था जैसे वो वेटिंग लिस्ट में हो मेरे मित्रगणों  मै सबसे पहले उसकी गांड मरना चाहता हु .
.

 उसको पेलने की इच्छा दिनों से है मेरे मित्रगणों  पहले वाले ने मेरी चूत में अपनी उंगली को डाल दिया और मेरी चूत बिल्कुल साफ थी. मेरी चिकनी बिना बालों की चूत को देखकर तो वो तीनों और भी पागल हो गये और तीसरा बोला वाह क्या मस्त चूत है इसकी बिल्कुल साफ है? फिर वो मुझसे पूछने लगा क्या तुम इसको हर रोज़ साफ करती हो जानेमन? में कुछ नहीं बोली. फिर वो तीनो खड़े हो गये और अपने कपड़े उतारने लगे, वो तीनो पूरे नंगे हो गये. मैंने देखा कि उन तीनो के लंड तनकर खड़े हुए थे, वो सब फुल टाइट थे. अच्छा चुदाई चाहे जितनी कर साला फिर भी लैंड नहीं मनता मेरे मित्रगणों    .


 मेरे मित्रगणों  मेरा तो मानना है जब भी चुत मारनी हो बिना कंडोम के ही मारो तभी ठीक नहीं सब बेकार अब पहला चोथे से बोला अरे यार तुम भी तो अपने कपड़े उतार लो इसको दिखा दो तुम्हारा हथियार तो वो भी नंगा होने लगा और सिर्फ़ अंडरवियर पहने रहा. उसके अंडरवियर की तरफ मेरी नज़र चली गयी और में उसको देखकर बड़ी हैरान रह गयी. वो बहुत बड़ा दिख रहा था. उसके बूर की गहराई में जाने के बाद क्या मजा आया मेरे मित्रगणों   जैसे उसके चुत में माखन भरा हो.


 उसको देखने बाद साला चुदाई भूत सवार हो जाता मेरे मित्रगणों  तभी दूसरे ने कहा कि देख साली कुतिया की नज़र तो भाई के बड़े लंड पर है, साली पहले यह तीनों तो ले ले उसके बाद बड़ा वाला लेना, नहीं तो उसका लंड तेरी चूत को फाड़ देगा और फिर वो तीनो मेरे ऊपर टूट पड़े और मुझे बेड पर लेटा दिया. फिर दूसरा और तीसरा मेरे निप्पल को चूसने लगे और पहले वाला मेरे पैरों को छोड़कर अपने लंड को मेरी चूत के सामने रख दिया और एक धक्का मार दिया आह्ह्ह्ह ऊईईईईइ में चिल्लाई उसका पूरा लंड मेरी चूत के अंदर चला गया था और अब उसने कुछ नहीं देखा और ना सुना बस वो शुरू हो गया और धक्के मारने लगा. मुझे तो कभी कभी चुदाई का टाइफिड बुखार हो जाता है और जब तक चुदाई न करू    तब तक ठीक नहीं होता.
 एक बात और मेरे मित्रगणों  चुत को चोदते समय साला पता नहीं क्यों नशा सा हो जाता बस चुदाई ही दिखती है उधर वो दोनों मेरे निप्पल को चूस रहे थे. में भी अब थोड़ी गरम हो गयी थी और थोड़ा मज़ा मुझे भी अब आने लगा था क्योंकि कुछ नया अनुभव था इसलिए. फिर थोड़ी देर में पहले वाले का पानी निकल गया, वो बेड पर लेट गया उसके बाद दूसरा आ गया और फिर वही काम उसने भी किया कुछ देर वो भी शांत हो गया उसके बाद तीसरा आया और वो भी कुछ देर धक्के देकर झड़ गया. उसके बाद वो तीनों बेड पर लेट गए में भी थोड़ी देर बेड पर लेटी रही और उस बीच मेरा भी एक बार पानी निकल गया था. उह यह उसकी नशीली आँखे में एक दम  चुदकड़ अंदाज है.

What did you think of this story??






अन्तर्वासना इमेल क्लब के सदस्य बनें


हर सप्ताह अपने मेल बॉक्स में मुफ्त में कहानी प्राप्त करें! निम्न बॉक्स में अपना इमेल आईडी लिखें, फिर ‘सदस्य बनें’ बटन पर क्लिक करें !


* आपके द्वारा दी गयी जानकारी गोपनीय रहेगी, किसी से कभी साझा नहीं की जायेगी।