मुख्य पृष्ठ » साली सेक्स स्टोरीज » भाई की साली की चूत में लंड


भाई की साली की चूत में लंड

Posted on:- 2021-08-04


सलाम वालेकुम मेरे प्यारे साथियो, मेरा नाम तर्क फ़तेह है और मेरी उम्र 24 साल है. में ग़ज़िआबाद  का रहने वाला हूँ और आज में आपको अपने पहले चुदाई  के बारे में बताने जा रहा हूँ, जब में 10 वीं क्लास में था और गर्मी की छुट्टियों में अपने मामा के यहाँ रहने के लिए गया हुआ था. सुनकर आपका लंड खड़ा हो जायेगा मित्रों.

मेरा लंड ताबड़तोड़ है और एक अच्छी चुत के तलाश में है मेरे मामा के 3 लड़के है, जिनमें से बड़े दो लड़को की शादी हो चुकी है और तीसरा उन कुंवारा था और मेरे बीच वाले भाई की साली भी आई हुई थी, वो मुझसे 2 साल बड़ी थी और हाईट 5 फुट 3 इंच और मस्त मोटे बूब्स, मस्त फिगर, बड़ी-बड़ी आँखे और लंबे लंबे बाल. उस टाईम मुझे चुदाई  के बारे में बातें करना ही आता था, लेकिन इसका मज़ा चखा नहीं था. वहां हम सब कई लोग हो गये थे और हम सब छत पर सोते थे. एक तरफ सारे बच्चे उसके बाद सीमा और फिर में और लास्ट में मेरा भाई. सीमा को देर तक सोने की आदत थी. उसकी चूची क्या गजब लग रही थी मित्रों.

 उसकी चूची का उभार गगजब था   मित्रों  फिर एक दिन में करीब 7 बजे उठा और देखा तो सीमा सो रही थी और सब लोग नीचे चले गये थे. अब सीमा करवट लेकर सो रही थी और उसका सूट चूतड़ों से ऊपर उठा हुआ था, उसकी सलवार फटी हुई थी. फिर मैंने उसकी सलवार के फटे कपड़े को हटाकर ऊपर उठाया, तो वो अंदर अंडरवेयर नहीं पहनती थी. उसकी बूब्स क्या मन को मचला रहे थे मित्रों.

मन कर रहा था उसकी चूची पकड़ कर पी जाऊ मित्रों  फिर मैंने उसके चूतड़ को देखा और कपड़ा हटाकर चूतड़ पर किस किया और अपना हाथ लगाने लगा. फिर वो सोती रही और उसने कोई क्रिया नहीं की और फिर उसके बाद में नीचे आ गया. फिर अगली रात जब हम लोग रात को सोए तो मुझे नींद नहीं आई और में उसी के बारे में सोच रहा था. फिर करीब 1 घंटे के बाद में उठा और अपना हाथ उसके बूब्स पर रख दिया और धीरे-धीरे दबाने लगा, तो उसने कुछ नहीं कहा. उसकी चूची क्या मुलायम  थी मित्रों.

 उसकी चूची क्या कड़क थी मित्रों फिर थोड़ी देर के बाद उसने करवट बदलकर मुझसे मुँह फैर लिया तो मैंने उसका सूट उठाकर उसके चूतड़ों के बीच में अपना लंड निकालकर डाल दिया, तो उसने फिर भी कुछ नहीं कहा. फिर मैंने अपने लंड को लगाए-लगाए पीछे से उसके बूब्स को पकड़ा और दबाने लगा. फिर आधे घंटे तक मज़ा लेने के बाद में बाथरूम में गया और मुठ मारकर सो गया. उसकी चूची पीते पीते तनकर लाल हो गयी.

 उसकी चुत का टेस्ट नमकीन और मादक था मित्रों बस चाटा जाओ अगले दिन सोने के आधे घंटे के बाद वो मेरे पैर पर अपने पैर से खुजाने लगी तो में समझ गया कि वो फिर से पिछले दिन वाले काम के लिए तैयार है, तो में फिर से शुरू हो गया और हम रोजाना ऐसे ही करते रहे. फिर एक दिन उसने मेरा लंड पकड़कर पीछे से हटा दिया और मेरा हाथ भी अपने बूब्स से हटा दिया. तो में डर गया कि कहीं ये किसी को कुछ कह ना दे, लेकिन उसने किसी से कुछ नहीं कहा और सो गयी. उसकी बूर मदमस्त हो गयी मित्रों उह उह उह उह.

 मै एक चुदकड़ लड़की हु मित्रों  मुझे हमेशा चुदाई भूख रहती मित्रों और क्या बताऊ मित्रों मैंने बहुत सी कमसीन जवान और मदमस्त लड़कियों की बूर में चुदाई किया है काफी मजा किया फिर मैंने अगले दिन उससे पूछा कि सीमा मुझसे नाराज़ हो क्या? तो उसने कहा कि क्यों? तो मैंने कहा कि रात को तुम मेरा हाथ क्यों हटा रही थी? तो उसने कहा कि तुम रोजाना ऐसे ही मेरे साथ सलवार के बाहर से ही लगाकर कर लेते हो और कभी सच में तो करते ही नहीं. फिर मैंने कहा कि में तुम्हारे साथ सच में कर तो दूँ, लेकिन रात को सोते हुए अगर कोई जाग गया तो प्रोब्लम हो जाएगी. फिर उसने कहा कि कहीं चुपके से कर लेते है और फिर हम दोनों रात को वैसे ही चुदाई  करते रहे और अकेलेपन का मौका देखने लगे. मुझे चुदाई के  बारे सोचकर मै मदहोश हो जाती हु.

 मेरी चुत हमेशा लैंड की प्यासी रहती है मित्रों एक दिन सभी लोग और बच्चे भाई के लिए लड़की देखने के लिए गये हुए थे और सारे भाई ऑफिस गये हुए थे. अब में और सीमा घर पर अकेले थे और हमे मौका मिल गया था. फिर सब लोगों के जाते ही मैंने उसको अपनी गोद में उठा लिया और भाई के बेडरूम में ले जाकर बेड पर गिरा दिया और ऊपर से में भी उसके ऊपर लेट गया और उसको किस करने लगा. साथियो मुझे   हमेशा  मोटे लड की जरूरत रहती है.

 मित्रों मोटे लैंड से चुदाई करने का मजा कुछ और है अब किस करने के साथ-साथ मेरा एक हाथ उसकी कमर में था और अपने एक हाथ से उसके बूब्स को दबा रहा था. फिर उसके होंठ चूसने के बाद मैंने उसकी सलवार के अंदर अपना हाथ डाल दिया और उसकी चूत पर अपना हाथ रख दिया. फिर थोड़ी देर के बाद मैंने उसकी सलवार का नाड़ा पकड़कर खींच दिया और उसकी सलवार को नीचे करने लगा. मित्रों मैंने बहुत बार चुत मरवाई है.

मित्रों मुझे गांड मरवाने मजा आता है मित्रों फिर वो बोली कि रूको सारे कपड़े उतार देते है और फिर हम दोनों बिल्कुल नंगे हो गये. अब में उसकी जवानी देखकर हैरान रह गया और उसके बूब्स को चूसने लगा. अब उसने मेरा लंड पकड़ रखा था और में उसके बूब्स चूस रहा था. फिर मैंने उसकी चूत में अपना लंड घुसाना चाहा तो उसने अपने आप ही मेरा लंड पकड़कर अपनी चूत पर रख दिया और मेरे चूतड़ पकड़ लिए और बोली कि अंदर डालो. मित्रों मुझे लड  चाटने में मजा आता है मित्रों.

 मित्रो कभी मोटे लड  से गांड मारा देखिये कितना मजा आता मित्रों फिर मैंने धीरे-धीरे करना स्टार्ट किया तो मेरे लंड का सिर्फ़ ऊपर का हिस्सा ही अंदर गया. तो वो कहने लगी कि थोड़ा और तेज धक्का मारो, तो मैंने एक तेज का धक्का मारा और मेरा आधा लंड उसकी चूत के अंदर चला गया और वो आअहह आह करने लगी. मेरे प्यारे मित्रो इस प्रकार हमने बहुत बार चुदाई करा के मजा लिया और चोदा पेली की साडी हदे पार कर दी मित्रों.

 उसकी चुत का टेस्ट नमकीन और मादक था मित्रों बस चाटा जाओ फिर मैंने उसके होंठो पर अपने होंठ रख दिए और उसके होंठो को चूसता रहा और नीचे से अपना लंड उसकी चूत में घुसाता रहा. अब में लगातार उसकी चूत में चुदाई कर रहा था और वो आहहहहह मसस्स आहह कर रही थी. फिर थोड़ी देर के बाद मेरा वीर्य निकलने वाला था तो मैंने अपना लंड उसकी चूत में से बाहर निकाल लिया और उसके पेट पर सारा वीर्य छोड़ दिया और इसी तरह हमने उस दिन 3 बार चुदाई  किया और खूब मजे लिए. उसकी बूर मदमस्त हो गयी मित्रों उह उह उह उह मित्रों मैंने ऐसी तरह न जाने कितने औरतो और लड़कियों बूर में चोदा पेली किया है कितनो चुत का भोसड़ा तक बना दिया और न जाने कितनो का तो सील तोड़ कर खून निकाल दिया और न जाने कितनी को तो कुवारी में ही माँ बना दिया  और मैं चोदा पेली करने के लिए कही भी और किसी भी हद तक जा सकता हु.

What did you think of this story??






अन्तर्वासना इमेल क्लब के सदस्य बनें


हर सप्ताह अपने मेल बॉक्स में मुफ्त में कहानी प्राप्त करें! निम्न बॉक्स में अपना इमेल आईडी लिखें, फिर ‘सदस्य बनें’ बटन पर क्लिक करें !


* आपके द्वारा दी गयी जानकारी गोपनीय रहेगी, किसी से कभी साझा नहीं की जायेगी।