मुख्य पृष्ठ » फर्स्ट टाइम सेक्स स्टोरीज » लड़की को ब्लेकमेल कर के चोदा


लड़की को ब्लेकमेल कर के चोदा

Posted on:- 2022-11-16


मित्रों मै आप सब का हार्दिक अभिनंदन करता हु मेरे मित्र  का घर UP lakhimpur khiri  के सिटी एरिया में है ,मैं उसके यहाँ अक्सर जाया करता था. उसके घर के बगल में दो इंडियन लड़किया अपने परिवार के साथ रहती थी. एक का नाम नज़ीफ़ा और दूसरी का नाम फातिमा  था ,दोनों ही बहुत ही चुदकड़  थी,दोनों में ही जवानी कूट-कूट कर भरी हुई थी. नज़ीफ़ा थोड़ी मोटी गदराये बदन वाली थी और फातिमा  स्लिम और चुदकड़  थी ,दोनों  बिलकुल दूध की तरह थी ,दोनों के चुंचे काफी मस्त थे. नज़ीफ़ा की चुंचियां बड़ी -बड़ी थी पर फातिमा  की उससे छोटी चुंचियां थी. नज़ीफ़ा के चुतड भारी और बहार की तरफ उठे हुए थे जबकि फातिमा  के चुतड गोल-मटोल छोटे थे. दोनों ही एकदम मस्त चोदने वाली माल थी, हम दोनों मित्र इन इंडियन लड़किया को चोदने का जुगाड़ लगाते रहते थे अपनी यादों में उनको नंगा करके दिन मे एकबार मुठ जरुर मारता था. एक दिन संयोग से मेरी किस्मत का दरवाज़ा खुल ही गया और यह इंडियन लड़की चोदने को चोदने की किरण नजर आई. मैंने नज़ीफ़ा को अपने बॉयफ्रेंड के साथ एक पार्क में देखा, दोनों झाड़ियों के पीछे एक-दुसरे से लिपट कर चूमा -चाटी कर रहे थे. दोस्तों क्या मॉल थी उसकी चुची पीकर मजा आ गया.


मै एक नंबर का आवारा चोदा पेली करने वाला  लड़का हु मुझे लड़किया चोदना अच्छा लगता है मैं उनको देख कर मस्त हो रहा था तभी मेरे दिमाग में एक तरकीब आई, मैंने अपना मोबाइल निकाला और उन दोनों की विडिओ निकाल लिया . मैं सोच रहा था अब तो नज़ीफ़ा की मस्त गांड और चूत चोद पाऊंगा, मैं वही से उनका पीछा करने लगा. शाम तक वो दोनों इधर-उधर फीरते रहे उसके बाद जब नज़ीफ़ा घर लौटने लगी तो मैंने उसे रास्ते में ही रोक लिया और कहा- आओ मैं तुम्हे अपनी गाडी से छोड़ देता हु, पैदल कहा जाओगी. पहले तो इनकार कर रही थी लेकिन मेरे जोर डालने पर वो मेरे गाडी पर बैठ गई और हम लोग घर की तरफ चल दिए. रास्ते में मैंने उससे कहा -पार्क में क्या कर रही थी, उसने घबराते हुए कहा-कुछ भी तो नहीं. मैंने कहा- होशियार मत बनो, मैंने देखा है और मेरे पास तुम दोनों की विडिओ भी है. अब वो काफी डर गई थी उसने कहा-मेरे घर पर मत बताना, तुम्हे जो चाहिए वो मैं तुम्हें दे दूंगी. मैंने कहा-ठीक है अगर तुम मुझसे चुदोगी तो मैं तुम्हारे घर पर कुछ भी नहीं कहूँगा. ये कहानी पढ़ कर आपका लंड खड़ा नहीं हुआ तो बताना  लड खड़ा ही हो जायेगा .


दोस्तों चुत छोड़ने के बाद सुस्ती सी आ जाती है उसने कहा- ये पॉसिबल नहीं है तो मैंने कहा- मैं तुम्हारे घर जा ही रहा हूँ, वहां सब-कुछ पॉसिबल हो जाएगा.फिर उसने कुछ देर तक सोचने के बाद कहा- ठीक है,मेरा मोबाइल नंबर ले लो, कल फ़ोन कर लेना जहाँ कहोगे आ जाउंगी. अब मेरा मन ख़ुशी के मारे उछलने लगा, अभी तो एक मिल ही रही है बाद में दोनों इंडियन लड़किया चोदने को मिलेगी-मैंने सोचा. पूरी रात नज़ीफ़ा के उभरे हुए गांड और चुन्चों के बारे में सोचते हुए गुजर गया.सुबह मैं जल्दी से उठा और अपने एक मित्र से उसके कमरे की चाभी लेकर आ गया और 10 बजे ऑफिस के लिए निकल गया, लेकिन ऑफिस के बजाये मैं सीधे अपने मित्र के कमरे पर पहुँच गया. वहां से नज़ीफ़ा को फ़ोन लगाया और वहां आने के लिए कहा,फिर ऑफिस फ़ोन लगाया और वहां तबियत ख़राब होने का बहाना करके नहीं आऊंगा बोल दिया. अब मैं बेचैनी से नज़ीफ़ा का इंतज़ार करने लगा. नज़ीफ़ा घर से निकली और कॉलेज जाने के बदले सीधे वहां आ गई. मैं उसे देखा तो देखता ही रह गया क्या मस्त लग रही थी वो.  उसने जीन्स और टॉप पहन रखा था,जीन्स में उसकी बड़ी गांड उभरी हुई बरी ही मस्त लग रही थी. वैसे भी कोई भी इंडियन लड़की जींस में बहुत चुदकड़  लगती हैं. मैंने उसे गोद में उठा लिया और ले जाकर बेड पर लिटा दिया. साथ में खुद भी लेट कर उसको अपनी बाँहों में भर लिया और उसके गुलाब जैसे होठों को मुंह में लेकर चूसने लगा. एक हाथ से उसके चुंचे दबा रहा था और दुसरे हाथ से उसकी उभरी हुई बड़ी गांड को दबा रहा था और चूत को सहला रहा था. मेरा 8 इंच का लंड खड़ा हो गया था, जिसे वो पेंट के उपर से अपने हाथों से सहला रही थी. अब चुदकड़  इंडियन लड़की उठ कर अपनी बड़ी गांड को मेरे लंड पर रखते हुए मेरे गोद में बैठ गई और मेरे दोनों हाथों को पकड़ कर अपने बड़े-बड़े चुन्चों पर रख दिया. मैं भी उसके मस्त चुन्चों को दबाने लगा और उसके गर्दन को किस करने लगा, उसके मुंह से मादक सिसकियाँ निकल रही थी.वो पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी, मैंने उसके टॉप को बाहर निकाल दिया और ब्रा खोल कर उसके निप्पल को मुंह में लेकर चूसने लगा फिर उसके पेट चाटते हुए नीचे आया और उसकी जीन्स को उतार दिया. क्या बताऊ दोस्तों  उसको देखकर किसी लैंड टाइट हो जाये.

दोस्तों मने बहुत सी भाभियाँ चोद राखी है पेंटी में कसी हुई उसकी मस्त गांड को देख कर मेरे जीभ से पानी टपकने लगा , मैंने उसकी पेंटी को उतार दिया और इस हॉट इंडियन लड़की को फैला कर उसकी मस्त फूली हुई, मखमली चूत को चाटने लगा. देसी इंडियन लड़की मुंह से सिसकियाँ  रही थी तभी उसने मेरे लंड को बाहर निकाल कर अपने मुंह में भर लिया और चूसने लगी. चुदकड़  नज़ीफ़ा किसी बच्चे के लोलीपोप की तरह मेरा लंड चूस रही थी, मैं भी उसकी चूत को चूसते हुए मस्त हुआ जा रहा था. मैंने उसकी चूत को चाट-चाट कर लाल कर दिया, इंडियन लड़की के चूत से काफी पानी बह रहा था. अब उससे रहा नहीं जा रहा था, इंडियन लड़की बोली,विक्रम मेरी चूत में अपना लंड डाल कर चोदो, अब बर्दास्त नहीं हो रहा है. सुनते ही मैंने अपना लंड उसकी मुंह से निकाला और उसकी चूत पर रगड़ने  लगा. मैंने उससे कहा-आज मैं तुझे चोद -चोद कर बच्चे पैदा करूँगा, वो कहने लगी चाहे जितने पैदा करना हो कर लेना पर अब मेरी चूत में अपना लंड घुसा दो. दोस्तों क्या मलाई वाला माल लग रहा था.

चुदाई की कहानी जरूर सुनना चाहिए मजे के लिए फिर क्या था मैंने इस इंडियन लड़की की चूत की छेद पर लंड रख कर एक जोर का धक्का मारा और मेरा लंड उसकी चूत में आधा ही घुस पाया , वो दर्द के मारे चीख पड़ी. मैं रुक गया और उसके होठों को मुंह में लेकर चूसने लगा. जब उसका दर्द थोडा कम हुआ तो मैं धीरे-धीरे धक्का के साथ उसकी मस्त चूत को चोदने लगा और साथ में उसकी बड़ी गांड को भी अपने हाथों से दबाता जा रहा था. अब गर्म हुई इंडियन लड़की को भी मज़ा आ रहा था और वो अपनी बड़ी गांड उछाल-उछाल कर मेरा साथ दे रही थी. उसकी मादक सिसकियों की आवाज़ और उसकी चूत से निकलती हुई फचफच की आवाज़ से पूरा कमरा गूंज रहा था. कुछ देर चोदने के बाद मैं जोर-जोर से  मारने लगा और उसकी चूत में अपना वीर्य छोड़ दिया, वो भी मुझे कस कर लिपट गई और झड गई. मैं इंडियन लड़की के उपर ही चूत में लंड डाले हुए ही लेट गया. साथियो की पुराणी मॉल छोड़ने का मजा ही कुछ और है अब सुनिए चुदाई की असली कहानी दोस्तों एक बार चोदते  चोदते  मेरा लंड घिस गया दोस्तों उस लड़की मैंने चुत का खून निकल दिया दोस्तों एक बार मैंने अपने गांव के लड़की जबरजस्ती चोद दिया उसको देखकर  किसी का मन बिगड़ जाये.

What did you think of this story??






अन्तर्वासना इमेल क्लब के सदस्य बनें


हर सप्ताह अपने मेल बॉक्स में मुफ्त में कहानी प्राप्त करें! निम्न बॉक्स में अपना इमेल आईडी लिखें, फिर ‘सदस्य बनें’ बटन पर क्लिक करें !


* आपके द्वारा दी गयी जानकारी गोपनीय रहेगी, किसी से कभी साझा नहीं की जायेगी।