मुख्य पृष्ठ » चुदाई की कहानी » विदेशी रिपोर्टर की मस्त चुदाई


विदेशी रिपोर्टर की मस्त चुदाई

Posted on:- 2022-08-11


नमस्ते मेरे प्रिय दोस्तों, में प्रागराज का रहने वाला हूँ और मेरा नाम पवन है. में 11 वीं क्लास में पढता हूँ और मेरी उम्र 17 साल की है. एक दिन स्कूल के लड़को ने बाहर पिकनिक मनाने का प्रोग्राम बनाया और हम प्रागराज के शहर लरकाना के करीब मोहन जोदड़ो जो एक प्राचीन सभ्यता में शुमार होता है, वहाँ घूमने चले गए. उसको देखकर  किसी का मन बिगड़ जाये.

 उह भाई साहब की माल है उसकी चुत की बात ही कुछ और है हम लोग कुल 9 लोग थे और एक वैन किराए पर करक वहाँ पहुँचे थे. ये पिकनिक हमारी ज़ाति चाहत की वजह से हुई थी, इसमें कॉलेज का या किसी उस्ताद को शामिल नहीं किया गया था, हम सारे आपस में स्टूडेंट ही थे. दोस्तों फिर हम मोहन जोदड़ो पहुँचे और वहाँ घूमने लगे, वहाँ बहुत ही प्राचीन सभ्यता नजर आ रही थी, वो उस वक़्त की टूटी हुई दीवारें, घर के नुमा गिरी हुई बिल्डिंग्स और उस जमाने की प्राचीन सभ्यता, जो यह ज़ाहिर करती है की यहाँ के रहने वाले लोग परास्त थे और भूतों की पूजा करते थे. ओह्ह उसके यह का चुम्बन की तो बात अलग है.
 है उसके गांड मेरा मतलब तरबूज क्या गजब भाई अब उस बड़े से एरिया में हम स्टूडेंट अलग-अलग हो गए थे. अब हर कोई अपनी-अपनी मर्ज़ी से मोहन जोदड़ो घूम रहे थे और फिर पूरे 2 घंटे के बाद हमें वापस वैन की तरफ आकर एकत्रित होना था. तो यारो में भी घूमते- घूमते वक़्त गुजारने लगा. मोहन जोदड़ो की पुरानी जगह होने की वजह से और गलियों की वजह से रास्ता इधर का उधर जाता है क्योंकि किसी जमाने में वहाँ पर पोरा शहर बसा हुआ था, अगर अंदर चले जाओ तो अंधेरा सा होता है बस आदमी एक दूसरे को कम देख पाता है. फिर में भी घूमते-घूमते किसी अंधेरी सी गली में चला गया, वहाँ पर लोग कम ही नजर आ रहे थे. उसका भोसड़ा का छेड़ गजब का था मित्रों.

 उसकी बूब्स  देखते ही उसको पिने की इच्छा हो गयी फिर मुझे एक औरत नजर आई जिसके हाथ में एक बुक थी और वो कुछ लिख रही थी. फिर तभी में उसके करीब गया और देखा, तो वो एक अँग्रेज़ लड़की थी, उसकी उम्र 35 साल की होगी, उसकी बॉडी बहुत ही सेक्सी लग रही थी, उसके बूब्स और उसकी गांड दिलकश लग रहे थे, वो पेंट  और शर्ट पहने हुई थी. मित्रों मै सबसे पहले उसकी गांड मरना चाहता हु अच्छा चुदाई चाहे जितनी कर साला फिर भी लैंड नहीं मनता मित्रों.

  मित्रों मेरा तो मानना है जब भी चुत मारनी हो बिना कंडोम के ही मारो तभी ठीक नहीं सब बेकार  उसको पेलने की इच्छा दिनों से है मित्रों मैंने उससे बात करने की कोशिश की मेडम आप क्या लिख रही है? तो वो बोली कि में एक टी.वी की रिपोर्टर हूँ और इस मोहन जोदड़ो के बारे में जानकारी ले रही हूँ क्योंकि ये बहुत पुरानी जगह है, में इसकी डॉक्युमेंटरी तैयार करके अपने चैनेल पर चलाऊँगी, ये मेरी ड्यूटी में शुमार होता है. अब हम ये सब बातें इंग्लिश में कर रहे थे, लेकिन यहाँ पर आपकी आसानी के लिए हिंदी में वो बातें बता रहा हूँ. तो यारो ऐसे ही बातें करते-करते हम एक दूसरे से कुछ करीब हो गए, क्योंकि उसको शायद और कोई ऐसा लड़का नहीं मिला था, जो उसको इंग्लिश में उसकी रहनुमाई करता. उसके बूर की गहराई में जाने के बाद क्या मजा आया मित्रों  जैसे उसके चुत में माखन भरा हो.

 उसको देखने बाद साला चुदाई भूत सवार हो जाता मित्रों अब हम लोग बातें करते हुए आहिस्ता-आहिस्ता चल भी रहे थे और एक ऐसी जगह जा पहुँचे जहाँ पर और कोई नजर नहीं आ रहा था और वहाँ पर सिर्फ़ हम दोनों ही थे. तो उसने जिसने अपना नाम मारिया बताया था वो कहने लगी कि यहाँ पर बैठकर रेस्ट कर लेते है और मेरी तरफ देखते हुए बोली कि क्या आप मुझे मोहन जोदड़ो के बारे में कुछ बताना पसंद करेंगे? मुझे तो कभी कभी चुदाई का टाइफिड बुखार हो जाता है और जब तक चुदाई न करू तब तक ठीक नहीं होता.

 एक बात और मित्रों चुत को चोदते समय साला पता नहीं क्यों नशा सा हो जाता बस चुदाई ही दिखती है मैंने कहा कि जरुर, जो कुछ मुझे मालूम होगा, वो में आपको बता सकता हूँ और वहाँ पर ही नीचे बैठ गए. अब वो मेरी तरफ बार-बार देख रही थी, शायद उसको डर था कि में कोई ऐसी वैसी हरकत तो नहीं करूँगा? फिर ऐसे ही बातें करते हुए उसने अपना टिफिन बॉक्स खोला और खाने के लिए कुछ निकाला और मुझे भी दे दिया और बोली कि ये खाओ और खुद भी खाने लग गई. फिर मैंने इनकार किया, लेकिन उसने कहा कि कोई बात नहीं जब हम साथ बैठे है, तो में अकेली कैसे खा सकती हूँ? उह यह उसकी नशीली आँखे में एक दम  चुदकड़ अंदाज है.


 मित्रों देखने से लगता है की वो पका चोदा पेली का काम करती होगी
 अब हम दोनों आपस में एक दूसरे से बिल्कुल ही चिपककर बैठे थे और उसकी बाई तरफ की टाँग मेरी टाँग से टकरा रही थी. फिर मैंने पहले कभी कोई अँग्रेज़ लड़की को इतनी नजदीक से कभी नहीं देखा था इसलिए में भी बार-बार उसके चेहरे की तरफ देखता और कभी उसकी बॉडी की तरफ देख लेता था. तो तभी उसने महसूस किया कि में उसको दिलचस्पी से देख रहा हूँ. मित्रों चुत को चाटेने के  समय उसके बूर के बाल मुँह में आ रहे थे.

 मित्रों मुझे तो कभी कभी चुत के दर्शन मात्र से खूब मजा आता क्योकि मई पहले बहुत बार अपने मौसी के लड़की  को बिना पैंटी के देखा था  वाह क्या मजा आया था  उसने पूछा कि आप क्या करते है? तो मैंने कहा कि में 12वीं क्लास का स्टूडेंट हूँ और यहाँ पर घूमने के लिए आया हूँ. फिर उसने कहा कि यानि हम दोनों यहाँ पर अजनबी है. अब ऐसे मेरे दिल पर उसके साथ बातें करने की वजह से सेक्स का असर होने लगा था और मेरी आँखों के डोरे लाल हो रहे थे. तो फिर मारिया ने जब देखा कि मेरी आँखें लाल हो रही है तो वो बोली कि क्या आपकी तबीयत सही नहीं है? और मेरे सिर पर अपना हाथ रखने लगी. मन कर रहा था कब इसे चोद लू मेरा लंड समझने  को तैयार नहीं था.


 ओह ओह ओह है कब लंड को घुसा दू ऐसा लग रहा था मित्रों  फिर मेरे जिस्म में जैसे कोई बिजली सी दौड़ गई हो. फिर मैंने मारिया का हाथ अपने हाथ में पकड़कर कहा कि नहीं मेडम बस पता नहीं क्यों मुझे कुछ ऐसा हो रहा है? अब में बातें करते हुए मेडम के एक हाथ को अपने हाथ से मसल भी रहा था. फिर तभी उसने मुझे अपनी गोद में लेटा लिया. अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था तो मैंने भी मारिया की गोद में अपना मुँह रख दिया और अपने एक हाथ से उसके बूब्स को सहलाने लगा. मॉल था चुदाई के लायक.

 मैंने सोचा पेलुँगा जरूर  कभी न कभी  मारिया के मुँह से सिसकारी निकल गई. और तभी उसने मेरे चेहरे को पकड़कर ऊपर उठाया और अपना चेहरा मेरे चेहरे के सामने कर दिया और अपने होंठो को मेरे होंठो से चिपका लिया और चूसना शुरू कर दिया. अब वो मुझे और में उसको किस कर रहा था और हम दोनों एक दूसरे की जीभ को चूस रहे थे, वो बिल्कुल ही सेक्स का अनुभव रखती थी. अब उसके किस करने से मेरा लंड खड़ा हो रहा था. माल चुदाई के लिए तड़प रही थी मित्रों जब माल अच्छा हो तो कौन नहीं  चोदना चाहेगा  है न मित्रों

 चोदने के बाद थोड़ा रिलेक्स हुआ भाइयो क्या गजब मजा आया  अब में उसकी शर्ट के बटन खोलने लगा था और उसके बूब्स को अपने हाथ से मसलने लगा था और फिर मैंने उसकी शर्ट के सारे बटन खोल दिए और वो अब सिर्फ पेंट में थी और में उसके बूब्स चूस रहा था. अब वो अपने मुँह से आवाज़ें निकाल रही थी आआहह, ऊऊहह हनी, किस मी, सक मी बूब्स, प्लीज सक मी और में उसके दोनो बूब्स को बारी-बारी से चूस रहा था और फिर मैंने उसकी पेंट की चैन खोल दी और उसकी पेंट उतार दी. सेक्स करते समय बहुत मजा आया था मित्रों.

 उसके ओठ रसीले थे मित्रों मॉल गजब था मित्रों उसने भी मेरे कपड़े उतारने शुरू किए और अब में भी पेंट शर्ट में था और अब उसने भी मेरी पेंट शर्ट उतार दी थी और उसने खुद ही मेरे लंड को अपने के हाथ से पकड़ लिया था और उसे देखते ही कहने लगी कि ओह हनी, यू आर कॉक इज वेरी बिग एंड सो स्वीट और फिर उसने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और मेरे लंड को चूसने लगी थी. अब मुझे तो बहुत मज़ा आने लगा था. फिर मैंने उसको जमीन पर सीधा लेटाया और में उसके ऊपर उल्टा लेट गया और अपना मुँह उसकी टाँगों की तरफ किया. उसके लिप्स की चूसै यू ही चलती रही  मित्रों मित्रों वो मदहोस थी चुदाई के लिए.

 उसके बूब्स क्या मस्त थे मित्रों अब मै क्या कहु मित्रों  अब में भी उसकी चूत को चाटने लगा था. फिर मैंने उसकी चूत के दोनों लिप्स को अपनी उंगलियों से अलग किया और उसकी चूत में अपनी जीभ फैरने लगा और कभी अपनी पूरी जीभ उसकी चूत में डाल देता था और अंदर बाहर कर रहा था. मेरा मन चुदाई का था मित्रों.

 मैंने तय किया की चोद कर ही दम लूंगा उसके मुँह से भी आहें निकल रही थी ओह डार्लिंग सक मी पुसी, ऊऊओह वेरी नाइस, आआअहह, ऊऊहह गॉड, सक मी, सक मी और वो मेरे लंड को अपने मुँह से ज़ोर-ज़ोर से चूस रही थी. अब टाईम कम होने की वजह से में उसके ऊपर से उठा और उसको सीधा जमीन पर लेटाया और उसकी दोनों टाँगें अपने कंधों पर रखी और अपना लंड उसकी चूत के मुँह पर रखकर रगड़ने लगा था. फिर वो बेताब हो गई और बोलने लगी कि हनी फुक मी नाउ, प्लीज एंटर युवर बिग कॉक इन माई पुसी, प्लीज कम ऑन और फिर मैंने अपना लंड सीधा उसकी चूत के सामने रख दिया और एक ज़ोरदार धक्का मारा तो मेरा पूरा लंड उसकी चूत में अंदर चला गया. मै चुदाई के लिए बिल्कुल बेताब  था  मित्रों.

 मुझे तो बस चुदाई की धुन सवार थी मित्रों  उसके मुँह से आहह निकली, शायद वो ज्यादा ही चुदवाती होंगी इसलिए उसको ज्यादा तकलीफ़ नहीं हुई थी और मेरा पूरा लंड उसकी चूत में आसानी से घुस गया था और अब में उसको चोद रहा था. मुझे बूर की मादक खुसबू आ रही थी जो मुझे पागल कर रहे थे.

 दिन रात बस चुदाई ही चुदाई ख्याल मित्रों और कुछ नहीं अब मेरा लंड उसकी चूत में आहिस्ता-आहिस्ता अंदर बाहर हो रहा था. अब मुझे मारिया की चूत मारने में बहुत ही मज़ा आ रहा था और में बहुत खुशनसीब था कि में एक अँग्रेज़ लड़की की चुदाई कर रहा हूँ. अब यारो में बस धक्के पे धक्के मारे जा रहा था और मारिया भी नीचे से उछल-उछलकर अपनी चूत मरवा रही थी और बड़ी सेक्सी सी आवाज़ें निकाल रही थी फुक मी, फुक मी पुसी स्ट्रॉंग्ली, फुक मी और में उसको अपनी कमर हिला-हिलाकर चोदे जा रहा था. सच कहु तो वो चुदाई तो तरस रही थी दो.

 उसकी आखो में चुदाई का नशा था आख़िर में झड़ने के करीब पहुँच गया, तो तब मारिया ने भी अपनी चूत से पानी छोड़ दिया और मैंने भी अपने लंड का सारा पानी उसकी चूत में ही डाल दिया. फिर मैंने अपना लंड मारिया की चूत से बाहर निकाला और टिश्यू से अपने लंड को साफ किया और मारिया ने भी अपनी चूत साफ की और फिर हम दोनों ने अपने-अपने कपड़े पहन लिए. मेरा लंड उसकी बूर को चिर कर आगे निकाल रहा था.


 मैंने उसकी बूर का सील तोड़ दिया मित्रों  थोड़ी देर के बाद मारिया बड़े प्यार से मुझको किस करने लगी और थोड़ी देर के बाद ही मारिया ने किस करना बंद किया और हम वहाँ से बाहर आने लगे. तो तभी मैंने मारिया से कहा कि आप अब कहाँ जाएँगी? आपको मुझसे मोहन जोदड़ो के बारे में कुछ जानकारी लेनी थी, तो मारिया ने कहा कि मैंने लरकाना के एक होटल में रूम लिया हुआ है अगर आप मेरे साथ आज रात को वहाँ पर चलें तो में आपसे वहाँ पर ही मोहन जोदड़ो के बारे में जानकारी ले लूँगी. फर्स्ट टाइम चुदाई में सील टूटती है तो थोड़ा तो दर्द होगा ही.

 लंड घुसाने में लग रहा था बस चुत फैट ही जाएगी मित्रों में सोचने लगा कि में अपने साथ आए हुए दोस्तों से कैसे अलग हो जाऊँ? और फिर मैंने तय कर लिया कि में अपने दोस्तों से वापसी पर इजाजत माँग लूँगा और उनको कहूँगा कि मेरे यहाँ पर मामू जान रहते है, तो में आज रात को वहाँ जाऊँगा और फिर मैंने ऐसा ही किया और अपने दोस्तों को वैन में रवाना किया और में वहाँ पर घूमते हुए फिर से मारिया के साथ मिल गया. अब दोपहर के 3 बज रहे थे, अब में दिल ही दिल बहुत खुश हो रहा था की मेरी किस्मत अच्छी है की में आज पूरी रात मारिया की चूत मारूँगा और उसकी गांड भी मारूँगा. क्या रस भरी चुत थी मित्रों मजा आ गया.

 लड़कियों की चुत मरने का मजा ही कुछ और है  मित्रों अब में ये सोच रहा था कि तभी मारिया ने मेरे कंधे पर अपना एक हाथ रख दिया और बोली कि अब हमें वापस लरकाना चलना चाहिए और बाकी बातें वहाँ पर बैठकर करेंगे. तो यारो फिर हम दोनों मोहन जोदड़ो से मारिया की गाड़ी में लरकाना की तरफ रवाना हो गए मेरा लंड चुत में घुसने को तैयार था मित्रों मित्रों वो बुल्कुल मादक शराब जैसी लग रहे थी मन कर रहा अभी पी  लू.

What did you think of this story??






अन्तर्वासना इमेल क्लब के सदस्य बनें


हर सप्ताह अपने मेल बॉक्स में मुफ्त में कहानी प्राप्त करें! निम्न बॉक्स में अपना इमेल आईडी लिखें, फिर ‘सदस्य बनें’ बटन पर क्लिक करें !


* आपके द्वारा दी गयी जानकारी गोपनीय रहेगी, किसी से कभी साझा नहीं की जायेगी।