मुख्य पृष्ठ » चुदाई की कहानी » ट्यूशन टीचर की मस्त चुदाई


ट्यूशन टीचर की मस्त चुदाई

Posted on:- 2022-11-26


मेरे प्रिय दोस्तों क्या हाल चाल आशा है की ठीक ही होंगे, मैं विक्रांत सिंह. मैं 17 साल का हु. मैं 12th थ क्लास में पढाई कर रहा हु और दिखने में काफी स्मार्ट हु और  हैंडसम   हु. मेरा लंड 7.5 इंच का है. ये कहानी आज से 1 साल पुरानी है, जब मैं 12th में था और बोर्ड क्लास में होने की वजह से मुझे मैथ्स के ट्यूशन की बहुत जरूरत थी. तो मैंने एक दोस्त ने मुझे एक टीचर के बारे में बताया. जो अपने घर पर ट्यूशन देती थी और मैं अगले दिन, उसके बताये हुए एड्रेस पर पहुच गया. तो मेरा फ्रेंड वहीं था.

मैं उसके साथ गया तीसरे फ्लोर पर. क्योंकि उनका ट्यूशन सेण्टर तीसरे फ्लोर पर था. सो जैसे ही हम दोनों अन्दर गये. तो मैं अपने बेड पर थी और बाकी सब गर्ल्स सोफे पर थी. मैडम ने हमको बोला – अन्दर आओ और बैठो. मेरे बैठने के लिए कोई जगह नहीं बची थी. तो उन्होंने मुझे ऐसे खड़े देख कर कहा – यहाँ आ जाओ. तुम मेरे साथ बेड पर बैठ जाओ. सर्दी के दिन थे. तो मैडम ने अपने ऊपर एक कम्बल ले रखा था और हम को पढ़ा रही थी. मैडम 25 साल की होगी. उनका रंग गोरा, मस्त भरी जवानी है. उनकी फिगर तो लाजवाब थी 37 – 30 – 40. मैडम के चूचिया बहुत ही मस्त है और बहुत मोटे – मोटे भी है. उनके भरे – भरे चुतड और गांड तो बहुत ही मस्त है.. बहुत मोटे चुतड है उनके. उन्हें तो चुदाई की जरूरत तो थी ही.

 मै उनको चोदना चाहता था बस जुगाड़ में था तो दोस्तों, जब मैं उनके पास बैठ कर पड़ रहा था. तो वो सबको अलग से समझाती और मुझे सबसे अलग से समझाती. उनको देख कर मन तो कर रहा था, कि बस पकड़ कर चोद डालू. मेरा लंड भी अब थोड़ा खड़ा होते – होते पूरा खड़ा हो गया था. पेंट में से निकलने को तैयार था. मैंने अपनी बुक से उसे ढक लिया और किसी को पता भी नहीं चलने दिया. पर मैडम ने मुझे अपने लंड को दबाते हुए देख लिया था. मैडम मुझे देख कर थोड़ा सा मुस्कुरायी और फिर मैं उनको देख कर, मुस्कुराते हुए देख कर थोड़ा नर्वेस हो गया. फिर लगभग 3 सप्ताह तक ये ही सब चलता रहा. फिर एक दिन मुझे घर पर कुछ काम होने की वजह से ट्यूशन नहीं जा पाया. फिर अगले दिन, जब मैं ट्यूशन गया, तो बाहर किसी की बाइक या स्कूटी नहीं थी. मैंने सोचा, कि सब बस से आये होंगे. तभी मैं ऊपर गया और जैसे ही गेट के सामने खड़ा था. तो मैडम के माँ – डैड बाहर आये और उन्हें बाय बोला. जेसे ही उन्होंने मुझे देखा, तो वो शॉक हो गयी और बोली – तुम आज यहाँ कैसे? मैंने तो सबको छुट्टी दे दी थी. क्या बताऊ  दोस्तों मुझे तो चुदाई से मतलब था.

 मै 24 घंटे मैं चुदाई के बारे सोचता रहता हु मैं – मैडम, मैं कल नहीं आ पाया था. सो मुझे छुट्टी के बारे में नहीं पता था.

 

मैडम – अच्छा.

 

मैडम – ओके मैडम. अच्छा मैं चलता हु. अब मैं कल आ जाऊंगा.

 

मैडम – अब आज आ ही गया है. तो चल कुछ रिविजन ही कर ले.

 

मैं – ओके. मेन – मैं भी अकेली हु. कुछ टाइम ही पास हो जाएगा.

 

मैं – मैडम, आपके माँ और डैड कहाँ गये है? मैडम – वो गाँव में किसी की डेथ हो गयी है. वहां गए हुए है. २ वीक के बाद आयेंगे.

 

मैं – अच्छा, ओके.

मैडम – अच्छा चल, कुछ कर ले. २ घंटे का टाइम है तेरे पास. तो मैं जाकर सोफे पर बैठने लगा तभी.

 

मैडम – अरे… वहां क्यों बैठ रहा है. यहाँ आजा बेड पर.. कम्बल में बैठ जा.

 

मैं – अरे नहीं.. नहीं मैडम.

 

मैडम – आजा ना..

 

मैं – ओके मैडम.

 

मैं जाकर मैडम के पास बैठ गया और कम्बल के अन्दर पैर डाल लिए. मैडम ने मुझे सम दिए करने के लिए. मैंने एक ही बार में सब सोल्व कर दिए.

 

मैडम – अरे वाह, तू तो काफी इंटेलीजेंट है और मेरे जांघ पर अपना हाथ रख दिया. तभी मेरा लंड एक दम से खड़ा हो गया. फिर मैडम ने मुझे देखा और पूछा, क्या तेरी कोई लड़कियों फ्रेंड है. मैंने कहा – नहीं मैडम. आज तक तो कोई नहीं बनायीं. तो मैडम ने कहा – इतना अच्छा दीखता है, स्मार्ट भी है और फिजिकली भी स्टोरंग दीखता है. फिर क्यों नहीं बनायीं.

 

मैं – मुझे लड़कियों  से बातें करना नहीं आती है.

 

मैडम – बात करने में कौन सी बड़ी बात है. जैसे सिंपल बात करते है. वैसे ही बात करते है.

 

मैं – लेकिन मैडम, बात करने के अलावा तो लड़कियों फ्रेंड – बॉयफ्रेंड बहुत कुछ करते है. वो कैसे करते है. वो भी मुझे नहीं आता है इसलिए.

 

मैडम – बस, इतनी सी बात. ये तो सब अपने आप ही सिख जाते है बुद्दू.

 

मैं – लेकिन मैडम, मुझे नहीं आता है.

 

मैडम – तो क्या हुआ? मैं सिखा देती हु तुझे.

 

मैं – आप मुझे कैसे सिखाओ गे?

 

मैडम – प्रयोग करके और कैसे?

 

मैं – ओके मैडम.

 

देखते देखते  चुदाई का मन हो रहा था दोस्तों मैडम ने फिर मुझे अपने मोबाइल पर एक चुदाई की फिल्म लगा कर दी और चेंज करने चली गयी. मैं देखता रहा और फिर थोड़ी देर बाद मैडम आ गयी. वो एक नाइटी पहने हुई थी पिंक कलर की. सिर्फ उनकी जांघो तक थी. मैं उनको देखता ही रह गया. फिर मैं थोड़ा शांत बैठ गया और मोबाइल साइड में रख दिया. मैडम आकर वापस कम्बल में बैठ गयी और मेरे पैरो से अपने पैरो को टच करने लगी. तो मैंने भी हाथ कम्बल में डाल दिया और उनकी जांघो पर हाथ को फेरने लगा. मैडम मुझे बहुत ही सेक्सी स्माइल देने लगी. मैं उनको देख कर आउट ऑफ़ कण्ट्रोल हो गया और उनको लेकर बेड पर लेट गया. फिर मैं उनकी बॉडी के हर पार्ट को चूमने लगा और समुच किया. पुरे 15 मिनट तक उनके मुह को समुच किया और फिर मैं उनके चूचिया को दबाने लगा और वो मेरे सर को पकड़ कर अपने चूचिया पर दबाने लगी और सिस्कारिया भरने लगी अहहह्ह अहहहः अहहाह ऊहूहोहोहोहो…वो चुदाई के लिए तड़प रही थी दोस्तों,

 

और उनको चोदने के परेशां था फिर मैंने उनकी नाइटी उतार दी और अब वो बिलकुल नंगी थी मेरे सामने. कसम से यारो.. एकदम मस्त लग रही थी. फिर वो उठी और मेरे सारे कपड़े उतार दिए और अब हम दोनों पुरे के पुरे नंगे थे. हम एक दुसरे को चूम रहे थे और फिर मैंने एकदम से अपना लंड उनकी चूत पर रख दिया और धक्का लगा दिया. मेरा लंड अन्दर नहीं गया. फिर मैं बैठा और मैडम की टांगो को अपने कंधो पर रख लिया और फिर चूत पर अपने लंड को रख कर थोड़ा सा अन्दर करके धक्का लगाया. पूरा 7.5 इंच का लंड मैडम की चूत में घुस गया और मैडम चिल्ला उठी अहहाह अहहाह अहहाह अहहाह स्स्स्स श्श्श्स श्श्श अहहाह अहहाह आःह्ह्ह अहः हाहा अहः… मैंने मैडम को जोर से पकड़ लिया और उनको जोर से किस करने लगा. थोड़ी देर ऐसे ही पड़े रहने के बाद उनके ऊपर, फिर जब मैडम को थोड़ा आराम मिला, तो तब मैंने धीरे – धीरे धक्के लगाने चालू कर दिए और झटके मारता रहा. मैडम मोअनिंग करने लगी थी अहः आहाह्हा एस एस एस हाहाह हाहाह ऊहुहुह हाहाहा एस एस… ऊओह्हो और जोर से जोर से चोदो… अहः अहः आहाह.


मैडम की चुत से शायद पानी निकल रहा था यारो और फिर मैंने मैडम को डोगी स्टाइल में बैठाया और जोर – जोर से झटके मारने लगा. मैडम के चुतड को भी दबा रहा था मैं. उनके चुतड पर थप्पड़ भी मार रहा था. फिर मैडम बोली – मेरा निकलने वाला है. मैंने कहा – मैडम, मेरा भी. फिर हम दोनों साथ में पहली वाली पोजीशन में आ गए और मैंने जोर – जोर से धक्के लगाने शुरू कर दिए. फिर मैडम झड़ गयी और 4 – 5 धक्को के बाद, मैं भी झड गया और सारा पानी उनकी चूत में डाल दिया. फिर मैं ऐसे ही उनके ऊपर पड़ा रहा और हम 1 घंटे तक ऐसे ही लेटे रहे और एक दुसरे को चुमते रहे. फिर हम दोनों एक साथ नहाये और फिर कपड़े पहने और मैं अपने घर चले गया. अब हम चुदाई करते है ट्यूशन के बाद. जब मैडम की माँ जॉब पर चली जाती है और डैड भी अपनी जॉब पर चले जाते है.. तब हम रोजाना घंटो तक चुदाई करते है…हमने टूशन वाली मैडम की चुत का भोसड़ा बना दिया दोस्तों बस गांड का ग़ज़िआबाद नहीं बनाया था नहीं हर तरह से चुदाई की थी दोस्तों आप कही जुगाड़ करके चोदिये दोस्तों मै तो यही कहुगा क्योकि चुदाई पहले बाकि काम बाद में.

What did you think of this story??






अन्तर्वासना इमेल क्लब के सदस्य बनें


हर सप्ताह अपने मेल बॉक्स में मुफ्त में कहानी प्राप्त करें! निम्न बॉक्स में अपना इमेल आईडी लिखें, फिर ‘सदस्य बनें’ बटन पर क्लिक करें !


* आपके द्वारा दी गयी जानकारी गोपनीय रहेगी, किसी से कभी साझा नहीं की जायेगी।