मुख्य पृष्ठ » बीवी की चुदाई » बीवी को दोनों तरफ से चुदवाया


बीवी को दोनों तरफ से चुदवाया

Posted on:- 2024-01-03


सासीरयकाल मेरे प्यारे साथियो आशा है की भाभी की चुदाई अच्छी चल रही होगी   मेरा नाम जोगिन्दर  है और मैं उत्तर  प्रदेश के एक जिले का रहने वाला हूँ. मेरे घर में पापा उनकी उम्र 55 साल, माँ उम्र 45 साल और मेरी उम्र 27 साल है और मेरी बीवी सीमा  उसकी उम्र 26 साल है. मेरी एक बहन है उसकी शादी हो गई है और वो अपने ससुराल रहती है. मेरी माँ बहुत टेड़ी सास है और उनका सीमा  के साथ कुछ ना कुछ झगड़ा होता रहता है. पापा भी माँ से बहुत डरते है मेरी शादी को 4 साल हो गये है.. लेकिन अभी तक बच्चा पैदा नहीं हुआ. मेरी माँ सीमा  को हमेशा उल्टा बोलती रहती है.. एक दिन सीमा  ने बोला कि चलो डॉक्टर को दिखाते है कि बच्चा क्यों नहीं हो रहा है? और हम डॉक्टर के पास चले गये तो पता चला कि मुझ में बच्चा पैदा करने की ताकत नहीं है और सीमा  बिल्कुल ठीक है उसकी इसमें कोई भी गलती नहीं है. शाम को घर पर पहुंच कर माँ को बताया.. लेकिन फिर भी उसने सीमा  पर ही दोष लगाया और वो बोली कि यही बच्चा पैदा नहीं कर सकती यह बांझ है और तुम मुझसे झूठ बोल रहे हो. अच्छा दोस्तों क्या आपने किसी लड़की को चोदा है सच्ची बताना.


 अच्छा दोस्तों गांड मरने का अपना अलग मजा है  में हर रोज़ शाम को चेटिंग पर रहता था.. मैंने अपना मेल आईडी कपल का बनाया था और में सीमा  को भी चेटिंग के लिए बोलता था.. लेकिन वो नहीं मानती थी. फिर चेटिंग पर मेरी दोस्ती पंजाब के एक लड़के सो हो गई.. जिसने अपना नाम विस्वास  था. विस्वास  ने सीमा  का फिगर पूछा और बहुत सी इधर उधर की बातें करता रहा और उसने मुझे अपना फोन नंबर दिया और हमने फोन पर बातें करना शुरू कर दिया. मैं सीमा  को भी चेटिंग करने को बोलता रहा, लेकिन.. सीमा  नहीं मानती थी और मैं विस्वास  को झूठ बोलता रहा की सीमा  दोस्ती को तैयार है. फिर विस्वास  सीमा  से फोन पर बात करना चाहता था और सीमा  को मैंने बहुत मनाया.. लेकिन वो फोन पर बात करने को तैयार नहीं थी. तब एक रात मैंने सीमा  से बहुत आग्रह किया कि विस्वास  से सिर्फ़ एक बार फोन पर बात करके तो देख और चेट पर सिर्फ़ अपने बूब्स दिखा दे चेहरा बिल्कुल भी मत दिखना. तो सीमा  बोली कि ठीक है मैं आपके कहने से फोन पर एक बार बात कर लेती हूँ.. लेकिन इसके बाद तुम मुझे बिल्कुल भी तंग नहीं करोंगे. तो मैंने भी हाँ बोल दिया और मैं बहुत खुश था और में सोच रहा था कि उनकी क्या बातें होगी? आप लॉप ने कभी न कभी तो किसी न किसी की गांड मरी ही होगी .


 क्या दोस्तों आपने कभी भाभी को चोदा है कितना मजा आया बताना जरा फिर मैंने नेट शुरू किया तो सीमा  ने अपनी छाती आगे की और विस्वास  का मैसेज आया कि कमीज़ हटाकर दिखाओ और फिर मैंने सीमा  की कमीज़ ऊपर उठा दी जिससे उसकी ब्रा नज़र आनी लगी. फिर नेट बंद कर दिया तो विस्वास  का फोन आया और वो बोला कि यार सीमा  तो बहुत मस्त माल लग रही है.. प्लीज एक बार टेस्ट करा दे. तो मैंने फोन सीमा  को दिया और उधर से मुझे विस्वास  की आवाज़ आई.. भाभी जी आपके बूब्स तो बहुत मस्त है.. कब पिला रही हो इनका दूध? तो सीमा  ने बोला कि कभी नहीं और फिर फोन काट कर दिया. विस्वास  का फिर फोन आया और वो बोला कि यार सीमा  बहुत शरमाती है.. लेकिन बहुत ही जल्दी मान जाएगी और मिलने का कभी प्रोग्राम बनाओ ना. फिर सीमा  तो तैयार नहीं थी लेकिन.. मैं विस्वास  को ऐसे ही बोलता रहता था कि सीमा  तैयार है और नेट पर बूब्स दिखाने के बाद तो विस्वास  को भी विश्वास हो गया। मोटी गांड वाली लड़कियों की बात ही कुछ और है.
 

क्या गजब चुदकड़ अंदाज थी फिर एक दिन माँ और सीमा  की बहुत लड़ाई हो गई और माँ ने सीमा  को बोला कि हमारे घर से निकल जा.. तू कभी भी बच्चे पैदा नहीं कर सकती और मैं अपने बेटे की दोबारा शादी करूँगी और फिर आस पड़ोस की बहुत सी औरतें तमाशा देखने लगी. फिर शाम को जब मैं ऑफिस से वापस आया तो सीमा  कमरे में बैठकर बहुत रो रही थी और मैंने उसे समझाया.. तो सीमा  बोली कि में ज़हर खाकर खुदखुशी कर लूँगी और मुझे उसकी बातों से ऐसा महसूस हुआ कि सच में यह ज़हर खा लेगी. फिर मैंने सीमा  को समझाया कि अगर तूने ज़हर खा लिया तो मेरा क्या होगा? क्या कभी तूने यह सोचा है? तो सीमा  बोलने लगी कि मुझे कुछ समझ नहीं आता कि में क्या करूँ? और मैं माँ के शब्द सुनकर बहुत तंग हो गई हूँ. तो दूसरे दिन मैंने सीमा  से बोला कि क्या तू मेरा एक काम करेगी?  फिर उसने बोला कि में तुम्हारे लिए जान भी दे सकती हूँ. तो मैंने उससे बोला कि तू किसी दूसरे से एक बार चुदवा कर एक बच्चा पैदा कर ले और फिर सबका मुँह बंद हो जाएगा. सीमा  तो जैसे पागल हो गई और मैंने उसे बहुत समझाया तब जाकर सीमा  तैयार हो गई और मैंने उसे बोला कि में विस्वास  के साथ बात करता हूँ. लड़किया क्युआ गजब चुदकड़ होती है दोस्तों.

 मेरे मित्रगणों  क्या मॉल थी उसकी चुची पीकर मजा आ गया फिर मैंने विस्वास  को फोन किया तो उसने झट से हाँ कर दी और फिर हमने मिलने का प्रोग्राम मनाली में सेट किया. तो सीमा  बोली कि यह ठीक है घर थोड़ा दूर ठीक रहेगा. फिर हमारा अगले सप्ताह का प्रोग्राम सेट हो गया और जब हम मनाली पहुँचे तो सीमा  बहुत डरी हुए थी लेकिन.. उसके पास कोई और चारा भी नहीं था. अगर किसी जान पहचान वाले से यह बात करते या किसी पड़ोस वाले से करते तो बदनाम होने का ज्यादा डर था.. इसलिए हम ने अंजान को पसंद किया.फिर हमने एक होटल में रूम बुक कर लिया और विस्वास  को बोला कि वो भी इसी होटल में रूम बुक करवा ले. फिर मनाली पहुँच कर विस्वास  ने फोन किया और फिर में उससे मिलने अकेला ही बस स्टेण्ड पर गया और सीमा  होटल में अपने रूम पर अकेली थी. विस्वास  20 साल का जवान लड़का था और विस्वास  के साथ उसका एक दोस्त भी था.. जिसका नाम  सूर्य प्रकाश  था.फिर मैंने विस्वास  को साईड में लेकर पूछा कि वो अपने दोस्त को क्यों लेकर आया है? तो उसने बोला कि वो बहुत करीबी दोस्त है और हम कई बार एक साथ एक दूसरे की गर्लफ्रेंड को चोद चुके है। मै एक नंबर का आवारा चोदा पेली करने वाला  लड़का हु मुझे लड़किया चोदना अच्छा लगता है.


 क्या दोस्तों आपने अपने बहन की चूची को दबाया है फिर मैंने उसे बोला कि सीमा  नहीं मानेगी और मैंने तो सिर्फ़ तुम्हारा नाम ही बताया था. तो विस्वास  बोलने लगा कि यार बात करके तो देख वो मान जाएगी. फिर में अपने रूम में आ गया और मैंने सीमा  को  सूर्य प्रकाश  के बारे में बताया लेकिन.. सीमा  ने बिल्कुल मना कर दिया और बोली कि जोगिन्दर  हम वापस घर चलते है.. मुझे यह काम ठीक नहीं लग रहा है . तो मैंने सीमा  को बहुत देर तक समझाया कि रोज़ रोज़ की बातों से तो अच्छा है कि एक बार दिल पर पत्थर रखकर सेक्स कर ले और सीमा  तो थोड़ा भावुक किया, तो वो तैयार हो गई. फिर मैंने उसे बताया कि यार 19-20 साल के लड़के है और वो अभी छोटे है दोनों से सेक्स कर ले. फिर खाना खाने के बाद मैंने विस्वास  को फोन किया और अपने रूम में बुलाया. तभी विस्वास  और  सूर्य प्रकाश  दोनों ही आ गये और फिर सीमा  धीरे से बोली कि जोगिन्दर  यह तो कॉलेज के लड़के लगते है और यह तो बहुत जवान है. तो मैंने उससे बोला कि तुझे कौन सी शादी करनी है? सिर्फ एक बार ही तो सेक्स करना है. ये कहानी पढ़ कर आपका लंड खड़ा नहीं हुआ तो बताना  लड खड़ा ही हो जायेगा मेरे मित्रगणों  चुत छोड़ने के बाद सुस्ती सी आ जाती है    .

 क्या बताऊ मेरे मित्रगणों   उसको देखकर किसी लैंड टाइट हो जाये मैं और सीमा  बेड पर बैठे थे.. विस्वास  और  सूर्य प्रकाश  कुर्सी पर बैठे थे और हमे बातें करते करते रात के 10 बज गये. मैंने विस्वास  को इशारा किया और बेड पर बुला लिया और मैं सीमा  का हाथ विस्वास  और  सूर्य प्रकाश  के हाथ में रखकर बोला कि आज रात सीमा  तुम दोनों की वाईफ है और तुम सभी बहुत मज़े करो. विस्वास  और मेरा रूम साथ साथ में था.. तो मैंने सीमा  को बोला कि तुम फ्री होकर अपना काम करो.. में दूसरे रूम में जाता हूँ. मैं दूसरे रूम में गया और जिस रूम मे चुदाई होनी थी उसकी बाल्कनी में आगे की खिड़की से नज़ारा देखने लगा. तो विस्वास  सीमा  को चूम रहा था और  सूर्य प्रकाश  उसके बूब्स से खेलने लगा और फिर थोड़ी देर बाद दोनों ने सीमा  को नंगा कर दिया.. सीमा  अब ब्रा और पेंटी में थी.  सूर्य प्रकाश  और विस्वास  दोनों अंडरवियर में आ गये और उन दोनों के अंडरवियर बहुत फूले हुए थे. फिर  सूर्य प्रकाश  ने सीमा  की ब्रा खोल दी और उसके दोनों बूब्स आज़ाद हो गये. तो विस्वास  ने सीमा  की पेंटी को उतार दिया और दोनों ने अपने अपने अंडरवियर भी उतार दिए. सीमा  एकदम से बोली कि बाप रे बाप इतने बड़े बड़े लंड और मैंने भी देखा कि सच में दोनों के लंड 7-8 इंच के थे. तो सीमा  बोली कि नहीं, मैं नहीं ले सकती इतने बड़े बड़े लंड. तो विस्वास  ने बोला कि भाभी जी एक बार लेकर तो देखो आपको कितना मज़ा आएगा? मेरी और  सूर्य प्रकाश  की गर्लफ्रेंड्स अभी 19 साल की है और भी हम दोनों से पूरी रात चुदवाती है. तो भाभी बोली कि नहीं में नहीं ले सकती। मेरे मित्रगणों  मने बहुत सी भाभियाँ चोद राखी है.


 मेरे मित्रगणों  क्या मलाई वाला माल लग रहा था     फिर विस्वास  ने अपना लंड सीमा  के होंठो पर लगा दिया और सीमा  को बोला कि जल्दी से मुँह खोलो.. तो सीमा  ने जैसे ही मुँह खोला तो विस्वास  ने अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया और सीमा  उसे चूसने लगी और  सूर्य प्रकाश  के लंड को अपने दोनों हाथ से सहलाने लगी..  सूर्य प्रकाश  उसके बूब्स दबा रहा था.फिर 5 मिनट चूसने के बाद विस्वास  ने लंड मुँह से बाहर निकाला और उसकी चूत के छेद पर रख दिया. तो सीमा  बोलने लगी कि प्लीज़ आराम आराम से देना लेकिन.. विस्वास  ने एक ज़ोर का झटका लगाया और आधा लंड उसकी चूत को फाड़ता हुआ उसकी चूत के अंदर चला गया.तो सीमा  दर्द की वजह से जोर जोर से चिल्लाने लगी.. उउउइई माँ फट गई मेरी चूत.. जोगिन्दर  तूने मुझे कहाँ फंसा दिया.. मुझे आआहह बहुत दर्द हो रहा है प्लीज़ बाहर निकालो इसे. अभी सीमा  सम्भल भी नहीं पाई थी कि विस्वास  ने दूसरे झटके में पूरा लंड सीमा  की चूत में उतार दिया. सीमा  और ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगी और  सूर्य प्रकाश  बोला कि विस्वास  इसकी ढंग से चुदाई नहीं हुई है और अभी तक कुंवारी ही लगती है और शायद इसकी सील भी नहीं टूटी है। मेरे मित्रगणों  एक बार चोदते  चोदते  मेरा लंड घिस गया.


 मेरे मित्रगणों  उस लड़की मैंने चुत का खून निकल दिया तो विस्वास  बोला कि आज इसकी खूब बजाएँगे और मैं खिड़की से सीमा  की चुदाई देखने के मज़े ले रहा था. विस्वास  ने अपनी स्पीड बड़ा दी और जैसे ही सीमा  ने चिल्लाने के लिए मुँह खोला तो  सूर्य प्रकाश  ने अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया और बोला कि साली अब चिल्ला जितनी मर्ज़ी पड़े उतना.. लेकिन इस चुदाई से सीमा  का बहुत बुरा हाल हो गया. फिर वो चुपचाप धीरे धीरे लंड को चूसने लगी क्योंकि उसके पास और कोई रास्ता भी नहीं था और 15 मिनट की चुदाई के बाद विस्वास  ने उसकी चूत वीर्य से भर दी और जैसे ही विस्वास  ने लंड बाहर निकाला तो  सूर्य प्रकाश  ने अपना लंड अंदर डाल दिया.तो सीमा  बोलने लगी कि प्लीज मुझे एक बार बाथरूम तो जाने दो.  सूर्य प्रकाश  बोला कि दोनों दोस्तों का माल तेरी चूत में एक साथ जाएगा तब जाकर तू प्रेग्नेंट होगी और अगर तूने बाथरूम में जाकर मूतना चाहा तो हमारी मेहनत पर पानी फिर जाएगा। ऐसे माहौल कौन नहीं रहना चाहेगा मेरे मित्रगणों . 

 मेरे मित्रगणों  एक बार मैंने अपने गांव के लड़की जबरजस्ती चोद दिया उह क्या मॉल था मेरे मित्रगणों  गजब 
फिर  सूर्य प्रकाश  ने 20 मिनट तक सीमा  को उल्टे सीधे धक्के देकर चोदा और फिर सीमा  ने कपड़े से अपनी चूत साफ की तो  सूर्य प्रकाश  बोला कि भाभी अब हम तेरी गांड मारेगें और बात यह सुनकर तो सीमा  बहुत गुस्सा हो गई और कहने लगी कि में इतना बड़ा लंड गांड में नहीं ले सकती और फिर मैं भी रूम में आ गया.. सीमा  को पूछा कि क्यों मज़ा आया? तो उसने शरम से सर नीचे कर दिया और विस्वास  बोला कि यार आज मज़ा आ गया.. सीमा  की मस्त चुदाई हो रही है.. तुम बिल्कुल भी चिंता मत करो.. हम अपना बीज डालकर ही भाभी को घर भेजेगें. तो सीमा  बोली कि जोगिन्दर  यार इनको बोल दो कि यह मेरी गांड नहीं मारेगें और यह दोनों मेरी गांड मारने की बात कर रहे थे. मैंने विस्वास  को बोला कि यार गांड मत मारना.. अभी तक इसने मुझसे भी गांड नहीं मरवाई है. तो सीमा  बोली कि जोगिन्दर  इन दोनों के लंड बहुत बड़े बड़े है. मैंने बोला कि हाँ यार यह तो है.सीमा  बोली कि मैंने तो सोचा था कि अभी जवान है तो इनके लंड अभी थोड़े छोटे छोटे होंगे.. लेकिन इनके यहाँ तो सब कुछ उल्टा हो गया. रात के 12 बज रहे थे और मैंने सीमा  को बोला कि मैं रूम में रहूँ या दूसरे रूम में चला जाऊँ? तो विस्वास  ने बोला कि तुम्हारा यहाँ पर क्या काम तुम दूसरे रूम में जाओ. मैं फिर से बालकनी से होता हुआ खिड़की पर पहुँच गया और अब चुदाई का दूसरा भाग शुरू हुआ. सूर्य प्रकाश  ने विस्वास  के कान में कुछ कहा और विस्वास  सीमा  के बूब्स से खेलने लगा तो  सूर्य प्रकाश  ने सीमा  की चूत से टपकता हुआ माल उंगली से उसकी गांड के छेद पर लगाना शुरू किया और इस पर सीमा  उछल पड़ी और बोली कि मैंने तुम दोनों को गांड के लिए मना किया था.. फिर भी तुम मानते नहीं.

तो  सूर्य प्रकाश  बोला कि यार में कुछ नहीं कर रहा हूँ बस चूत के माल को गांड के छेद पर लगा रहा हूँ. फिर सीमा  ने विस्वास  का लंड चूसना शुरू किया तो उसका लंड फिर तन गया और अब विस्वास  ने सीमा  को बोला कि भाभी तुम थोड़ा ऊपर बैठो में नीचे लेटता हूँ. फिर विस्वास  नीचे लेट गया और सीमा  उसके लंड पर बैठ गई और सीमा  जैसे ही बैठी तो बोलने लगी कि ऐसे तो यह एकदम से पूरा अंदर जा रहा है और मेरी बच्चेदानी से लग रहा है. फिर विस्वास  ने सीमा  को पकड़ कर नीचे दबा लिया.. लंड पूरा अंदर चला गया और  सूर्य प्रकाश  अपने लंड से सीमा  की गांड से खेलने लगा. सीमा  बोली कि मुझे तुम लोगों का मूड ठीक नहीं लग रहा है.. गांड पर लंड क्यों लगा रहे हो? जब मैंने मना किया है कि मुझे नहीं लेना है. तो  सूर्य प्रकाश  बोला कि मैं तो बस ऐसे ही घुमा रहा हूँ. सीमा  विस्वास  का लंड ऊपर नीचे होकर लेने लगी उधर  सूर्य प्रकाश  ने एकदम से लंड गांड के छेद पर टिका कर एक ही झटके में सीमा  की गांड में उतार दिया। मेरा तो मन ही ख़राब हो जाता था मेरे मित्रगणों  .


 क्या बताऊ मेरे मित्रगणों  मैंने चुदाई हर लिमिट पार कर दिया सीमा  ज़ोर से चिल्लाई माँ में मर गई.. जोगिन्दर  कहाँ हो तुम? इन्होने मेरी गांड भी फाड़ दी.. प्लीज़ मत दे गांड में.. मुझे बहुत दर्द हो रहा है और उन दोनों पर सीमा  के रोने का कोई असर नहीं हुआ और एक लंड चूत में और एक गांड में.. दोनों तरफ से उसकी चुदाई होने लगी और दोनों अपने अपने काम में बड़ी महनत से लगे हुए थे. फिर करीब 10 मिनट की चुदाई के बाद वो तीनों एक एक करके झड़ने लगे और थककर वहीं पर बेड पर लेट गए. फिर झड़ने के थोड़ी देर बाद सीमा  बाथरूम में जाने के लिए उठने लगी.. लेकिन वो ठीक से खड़ी भी नहीं हो सकी और बेड से नीचे गिर गई. तब में भी दूसरे रूम से होता हुआ आ गया और मैंने पूछा कि क्या हुआ? तो विस्वास  और  सूर्य प्रकाश  ने बोला कि चलो उठाकर बाथरूम में ले चलते है. फिर हम तीनो ने उसे उठाया और बाथरूम में ले गये.. तब रात के 2 बज रहे थे.  सूर्य प्रकाश  और विस्वास  सीमा  को चोदकर दूसरे रूम में चले गये और फिर दूसरे दिन वो दोनों अपने घर पर चले गये. सीमा  की हालत ठीक नहीं थी तो हम दूसरी रात भी वहीं पर रुके और मैंने सीमा  को मैंने बोला कि क्या तुम्हे मज़ा आया? तो उसने बोला कि हाँ. फिर वो मुझे उसके साथ क्या क्या हुआ बताने लगी.. तो मैंने उसे बताया कि मैंने तेरी पूरी चुदाई खिड़की से देख ली है. कुछ भी  हो माल एक जबरजस्त था .

 मेरे मित्रगणों  मैंने किसी भाभी को छोड़ा नहीं है फिर 2 दिन बाद सीमा  की थोड़ी हालत चलने फिरने की होने के बाद हम अपने घर पर आ गये और अगले महीने उसके पीरियड मिस हो गये. शायद वो अब माँ बनने वाली थी और मेरी माँ भी बहुत खुश हो गई और सीमा  ने एक लड़के को जन्म दिया और मेरी माँ बड़ी खुश थी.. लेकिन में और सीमा  ही जानते थे कि इस बच्चे के असली बाप कौन है. मेरे मित्रगणों  कई बार जबरजस्ती शॉट मरने में चुत से खून निकल गया एक बात और मेरे मित्रगणों  चुत को चोदते समय साला पता नहीं क्यों नशा सा हो जाता बस चुदाई ही दिखती है क्या दोस्तों आपने कभी भाभी को चोदा है कितना मजा आया बताना जरा.

What did you think of this story??






अन्तर्वासना इमेल क्लब के सदस्य बनें


हर सप्ताह अपने मेल बॉक्स में मुफ्त में कहानी प्राप्त करें! निम्न बॉक्स में अपना इमेल आईडी लिखें, फिर ‘सदस्य बनें’ बटन पर क्लिक करें !


* आपके द्वारा दी गयी जानकारी गोपनीय रहेगी, किसी से कभी साझा नहीं की जायेगी।