मुख्य पृष्ठ » बीवी की चुदाई » बीवी का गांड सेक्स देखा


बीवी का गांड सेक्स देखा

Posted on:- 2021-12-04


दोस्तों नमस्कार आपकी की चुदाई कैसी चल रही है अवंतिका देवास  को फोन किया और अभी भी उसका नंबर बीजी आ रहा था, मुझे लगा के यह साली अभी भी अपने बॉयफ्रेंड के साथ ही लगी होंगी, इस हरामी से शादी कर के मेरे भाग्य ही फुट गए थे. अवंतिका देवास  दिखने में और बिस्तर दोनों में मेरे साथ खुश रहती थी और मैं उसे अपने 8 इंच लम्बे लंड से हर दुसरे तीसरे दिन चोद लेता था. पर पता नहीं क्यूँ फिर भी वह खोई खोई रहती थी, मुझे मेरी बहन नंदिनी ने बताया की उसका गली के नुक्कड़ पर आये मेडिकल स्टोर वाले मनीष केशवव  और दुसरे एक दो और लोंदो के साथ चक्कर था. मुझे खबर नहीं पद रही थी की मैं क्या करूँ, क्यूंकि मेरे सामने वह हमेंशा सती सावित्री होने का ढोंग करती थी. उसके खिलाफ मेरे पास कोई सबूत नहीं था और ऊपर से उसका बाप सबूत के बगेर कुछ माने ऐसे कम ही चांस थे. मैंने मनोमन सबूत जुटाने की योजना बनाई और फिर मुझे पता चला की अवंतिका देवास  को क्या चाहिए था….मुझे फिर पता चला की उसको तो लंड चूत से ज्यादा गांड के अन्दर लेना अच्छा लगता था, और मैं उसे केवल चूत के अंदर ही लंड देता था. अच्छा दोस्तों क्या आपने किसी लड़की को चोदा है सच्ची बताना.


 अच्छा दोस्तों गांड मरने का अपना अलग मजा है मेरा दोस्त जोजफ दास  केशव  एक प्राइवेट डिटेक्टिव था और मैंने उस से बात की, उसने मुझे एक ख़ुफ़िया केमेरा दिया और मुझे अपने बेडरूम के अन्दर लगाने को कहाँ. मैंने केमेरा अलमारी के उपर इस एंगल से लगाया की बेड और कुर्सी का पूरा हिस्सा उसमे आ जाए. मैं रोज जब अवंतिका देवास  सब्जी लेने जाती तो केमेरा चला के देख लेता, एक हफ्ता हो गया था अभी तक कुछ हाथ नहीं लगा था. मैं रोज पुराने रेकोर्डिंग डिलीट करता और अवंतिका देवास  की मटकती गांड अब मुझे दुशमन सी लगने लगी थी, उसके साथ मैं केवल चोदा पेली  नाम के लिए करता था. मेरा सम्पूर्ण ध्यान तो उसकी चुदाई को केमरे के माध्यम से पकड़ने पर केन्द्रित था. आप लॉप ने कभी न कभी तो किसी न किसी की गांड मरी ही होगी .


 क्या दोस्तों आपने कभी भाभी को चोदा है कितना मजा आया बताना जरा एक दिन जब अवंतिका देवास  बाजार गई थी मैंने केमेरा देखा और आंखे खुली रह गई जब मैंने केमरे में मनीष केशवव  को देखा, मनीष केशवव  एक हट्टाकट्टा लौंडा था और उसकी हाईट भी बढ़िया थी. मैंने तुरंत केमेरा बंध किया और मैं उसे लेके सीधा अपने फार्म पर चला गया, जहाँ बैठ कर मैंने बाकी की रेकोर्डिंग देखी..इसमें मेरी बीवी अवंतिका देवास  मनीष केशवव  से गांड मरवा रही थी…पूरी रेकोर्डिंग देख के मेरे गुस्से का ठिकाना ही ना था….रेकोर्डिंग के द्रश्य कुछ इस प्रकार के थे. मोटी गांड वाली लड़कियों की बात ही कुछ और है.


मनीष केशवव  करीब दोपहर 1 बजे आया था घर पे, जब मैं ऑफिस गया था और घर पे अवंतिका देवास  के अलावा कोई और नहीं था. गर्मी के चलते 1 बजे बहुत कम चहलपहल होती है. वैसे भी हम लोग कम घुलते मिलते थे इसलियें मनीष केशवव  को कोई पूछने वाला भी नहीं था. पता नहीं अवंतिका देवास  ने द्रोइंग रूम में मनीष केशवव  को बिठाया की नहीं क्यूंकि मेरे पास के द्रश्य केवल बेडरूम के ही थे, लेकिन उन्हें देख मुझे मेरी बीवी की गांड के अंदर रही लंड की तलब का अंदाजा अच्छी तरह चल गया था. मनीष केशवव  को उसने तुरंत पलंग के उपर ढकेला और वह उसके सामने जैसे की नग्न डान्स कर रही हों वैसे अपने कपड़े एक एक कर के उतारने लगे. मनीष केशवव  अवंतिका देवास  को कुछ कह रहा था लेकिन केमेरा में सुनने का इन्तेजाम ना था इसलिए मैं समझ नहीं पाया. अवंतिका देवास  ने अपने सारे कपड़े उतारे और वह एक जम्प लगा के पलंग़ के उपर चढ़ गई. मनीष केशवव  की पेंट अवंतिका देवास  ने तुरंत उतार दी. मनीष केशवव  का लंड होगा कुछ मेरे जितना ही लेकिन उसका लंड एकदम काला था जैसे बेन्चोद धोता भी ना हो उसे. अवंतिका देवास  उसका काला लंड पकड़ के हिलाने लगी और मनीष केशवव  अवंतिका देवास  की गांड के उपर अपना हाथ फेरने लगा. क्या गजब चुदकड़ अंदाज थी.


 लड़किया क्युआ गजब चुदकड़ होती है दोस्तों अवंतिका देवास  अब मनीष केशवव  के लंड को धीमे धीमे सहला रही थी और फिर तो उसने सीधे इस लंड को अपने मुहं में भर लिया और उसके गले तक ले ले के चूसने लगी. मनीष केशवव  अपना हाथ अवंतिका देवास  की गांड पर धीरे धीरे फेरने लगा. अवंतिका देवास  की चुसाई और भी तीव्र होने लगी और वह उसे और भी जोर से चूसने लगी. अवंतिका देवास  की गांड के उपर ठपठप मार रहा था और अवंतिका देवास  बिच बिच में मुहं उठा के हंस रही थी. मनीष केशवव  भी अवंतिका देवास  का मुहं लंड के ऊपर दबा दबा के उसको अपना लंड चुसाए जा रहा था. अवंतिका देवास  अब खड़ी हुई और उसने गांड को मनीष केशवव  के आगे किया. मनीष केशवव  ने गांडमें अपना मुहं घुसाया और उसके उपर ढेर सारा थूंक लगाया. अच्छा अब पता चला की अवंतिका देवास  मेरे से खुश क्यों नहीं थी, वह गांड मरवाने की मशीन थी औ उसे अपनी दुकान में डंडा चाहिए होता था और मैं उसे 20 मिनिट तक चूत में लंड दिए रहेता था…..! मनीष केशवव  ने अवंतिका देवास  को वही उल्टा लिटा दिया और अवंतिका देवास  घुटनों के बल अपने कूलो को उपर किये हुए थी.मनीष केशवव  ने अपना डंडा लिया हाथ में और अवंतिका देवास  के कूलो के बिच होते हुए उसकी गुदा में धकेल दिया….!मेरे मित्रगणों  क्या मॉल थी उसकी चुची पीकर मजा आ गया.


 मै एक नंबर का आवारा चोदा पेली करने वाला  लड़का हु मुझे लड़किया चोदना अच्छा लगता है मनीष केशवव  अवंतिका देवास  को पेट से पकड कर अब उसकी गांड को जोर जोर से ठोकने लगा, अवंतिका देवास  के कूलो पर मनीष केशवव  के ठपाके लगने लगे, आवाज तो नहीं आ रही थी लेकिन चुदाई के समय जरुर मस्त आवाजे अ रही होगी. अवंतिका देवास  पहले बिना हिलेदडुले गांड मरवा रही थी और थोड़ी देर बाद उसने अपनी गांडको हिलाना चालू कर दिया. मेरा लंड रितूका गुदामैथुन देख खड़ा हो रहा था…मुझे लगा की मैंने इस रसीली गांडको कभी ठुकाई की लिए सही नहीं समझा…! मनीष केशवव  अब और जोर जोर से अवंतिका देवास  की गांड को धकेलने लगा और अवंतिका देवास  भी अब और जोरों से हिलने लगी थी. मनीष केशवव ने हाथ आगे कर के मेरी बीवी के सेक्सी चुंचे दबाये. अवंतिका देवास  की गांड से इसका लंड पूरा अन्दर बहार होने लगा था. तभी मनीष केशवव  के लंड से वीर्य निकला औ अवंतिका देवास  के कूलो से निचे टपकने लगा…थोड़ी देर में दोनों कपडे पहनने लगे और अवंतिका देवास  ने अलमारी से मनीष केशवव  को कुछ पैसे भी दिए…मुझे केमरे में पता नहीं चला लेकिन उसने कम से कम उसे 400 जितने रूपये दिए थे….!क्या दोस्तों आपने अपने बहन की चूची को दबाया है मेरे प्यारे दोस्तो चुची पिने का मजा ही कुछ और है ये कहानी पढ़ कर आपका लंड खड़ा नहीं हुआ तो बताना  लड खड़ा ही हो जायेगा.

What did you think of this story??


अन्तर्वासना इमेल क्लब के सदस्य बनें


हर सप्ताह अपने मेल बॉक्स में मुफ्त में कहानी प्राप्त करें! निम्न बॉक्स में अपना इमेल आईडी लिखें, फिर ‘सदस्य बनें’ बटन पर क्लिक करें !


* आपके द्वारा दी गयी जानकारी गोपनीय रहेगी, किसी से कभी साझा नहीं की जायेगी।