मुख्य पृष्ठ » आंटी सेक्स स्टोरीज » आंटी के साथ अंकल की गांड मारी


आंटी के साथ अंकल की गांड मारी

Posted on:- 2022-11-07


आपको मेरा प्यार भरा नमस्कार, आज में जो स्टोरी आप लोगों को सुनाने जा रहा हूँ, वो मेरी और एक कपल की है. अब पहले में अपना परिचय दे दूँ. दोस्तों मेरा नाम कुलदीप  है और में फरुखाबाद से हूँ. मेरी उम्र 27 साल है और मेरे लंड का साईज़ 6 इंच है. आज में आपको जो कहानी सुनाने जा रहा हूँ, वो एक सच्ची कहानी है और ये बात आज से करीब एक हफ्ते पहले की है. लड़कियों की चुत मरने का मजा ही कुछ और है  मित्रों.

 मेरा लंड तनकर टाइट था मित्रों एक दिन मुझे एक मैल आया, वो एक बड़ी उम्र का कपल का था, वो भी फरुखाबाद से ही थे, उसकी उम्र करीब 55 साल थी. उसने मुझे लिखा कि हम दोनों आपके साथ चुदाई का मज़ा लेना चाहते है, लेकिन ये बात सीक्रेट रहनी चाहिए. फिर उसने अपना फोटो ईमेल किया तो मैंने भी अपना फोटो भेजा. फिर में उनके बताए हुए पते पर गया तो आंटी बहुत मोटी और गोरी थी और अंकल भी मोटे थे, उसका पेट बाहर निकला हुआ था. मेरा लंड चुत में घुसने को तैयार था मित्रों.

 चुची की चुसाई में क्या मजा है मित्रों  फिर दोपहर का खाना खाने के बाद वो मुझे उसके बेडरूम में ले गये. फिर अंकल ने मुझे अपनी बाँहों में लिया और मुझे किस करने लगे. फिर आंटी ने भी मुझे लिप किस किया. तब तक तो मेरा लंड पूरा 8 इंच टाईट हो गया था. फिर अंकल ने अपने कपड़े उतार दिए और उसका लंड करीब 4 इंच का था और अंकल के बदन पर बाल बिल्कुल नहीं थे. फिर उसने मेरे कपड़े उतार दिए और मेरा लंड अपने हाथ में लेकर सहलाने लगे. अब तब तक आंटी ने भी अपने कपड़े उतार दिए थे. उसके बूब्स मोटे-मोटे और बहुत गोरे-गोरे थे, तो में उनको देखते ही चूसने लगा. मै उसकी चूची  पी रहा था.

 मेरा लंड ताबड़तोड़ चुदाई के लिए तैयार अब में उसके बूब्स चूस रहा था और अंकल मेरा लंड अपने मुँह में डाल रहे थे, क्या मज़ा आ रहा था? फिर हम तीनों त्रिभुज आसन में हो गये. अब में आंटी की चूत चाटने लगा था और अंकल मेरा लंड चाट रहे थे और आंटी अंकल के लंड को अपने मुँह में डाल रही थी. अब हम तीनों के मुँह से आवाजे आ रही थी आहह, आहह, मजा आ रहा है उहह. तो तभी अंकल ने मेरा मुँह अपने लंड की तरफ किया और में अंकल के लंड को अपने अपने मुँह में लेकर चाटने लगा और आंटी अंकल दोनों मेरे लंड को चूसने लगे. फिर अंकल तेल लेकर आए और अब वो समय आ गया जब मुझे उसकी चुदाई करनी थी फिर आंटी अंकल दोनों ने मेरे पूरे बदन पर किस किया और मेरी बॉडी पर मसाज करने लगे और मेरे लंड पर भी तेल लगाकर मसाज़ किया.

 मित्रों वो बुल्कुल मादक शराब जैसी लग रहे थी मन कर रहा अभी पी  लू  फिर अंकल मेरी तरफ अपनी गांड रखकर कुत्ते की तरह हो गये, तो मैंने अपना लंड उसकी गांड पर रख दिया, लेकिन तेल की वजह से मेरा लंड फिसल जाता था. फिर अंकल ने अपना हाथ पीछे करके मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर अपनी गांड के छेद पर रख दिया. फिर मैंने एक जोर का धक्का दिया तो मेरे लंड का गुलाबी सुपड़ा अंदर चला गया और फिर मैंने एक और ज़ोर से धक्का दिया तो मेरा पूरा लंड अंकल की गांड में घुस गया. अब उसे चुदाई का मजा मिल रहा था मित्रों.

 सच मुझे अब पता चला की चुदाई में कितना मजा है मित्रों  अब आंटी आगे से अंकल का लंड चूस रही थी और में अंकल की गांड मार रहा था. फिर थोड़ी देर के बाद अंकल खड़े हो गये और में बेड पर सीधा सो गया. अब आंटी ने मेरे ऊपर आकर मेरा लंड पकड़कर अपनी चूत में डाल दिया और अपनी गांड बाहर निकाली, तो अंकल ने अपना लंड खड़े-खड़े आंटी की गांड में घुसा दिया और धक्के देने लगे. अब मुझे तो बहुत मज़ा आ रहा था और आंटी अपने मुँह से आवाजे निकाल रही थी आह और धक्का लगाओ. अब अंकल भी जोश में आ गये थे और ज़ोर-ज़ोर से धक्के देने लगे थे. फिर क्या था मित्रों.

 इस प्रकार हमने मस्त  चुत की ताबड़ तोड़ चुदाई की और मजा लिया और आ अब मेरा लंड तो ऐसे ही अंदर बाहर हो रहा था. फिर अंकल ने अपना सफेद पानी आंटी की गांड में ही निकाल दिया और अपना लंड आंटी की गांड में से बाहर निकाल दिया. अब आंटी मेरे ऊपर ज़ोर-ज़ोर से ऊपर नीचे होने लगी थी और आहह, उहह की आवाजे निकाल रही थी. फिर करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद आंटी भी झड़ गयी और मेरा लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी और अंदर बाहर करने लगी. तो थोड़ी देर के बाद मैंने भी अपना पानी आंटी के मुँह में ही निकाल दिया और फिर हम तीनों ऐसे ही नंगे सो गये. वो मुस्कुरा रही थी मित्रों मेरा लंड ताबड़तोड़ है और एक अच्छी चुत के तलाश में है.

What did you think of this story??






अन्तर्वासना इमेल क्लब के सदस्य बनें


हर सप्ताह अपने मेल बॉक्स में मुफ्त में कहानी प्राप्त करें! निम्न बॉक्स में अपना इमेल आईडी लिखें, फिर ‘सदस्य बनें’ बटन पर क्लिक करें !


* आपके द्वारा दी गयी जानकारी गोपनीय रहेगी, किसी से कभी साझा नहीं की जायेगी।